सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले, सरकार बनने पर प्रदेश स्तर पर कराएंगे जातीय जनगणना

Shubham Bajpai, Last updated: Thu, 30th Sep 2021, 5:07 PM IST
  • सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कन्नौज में विधानसभा चुनाव से पहले जातीय जनगणना को लेकर बड़ा बयान दिया है. सपा प्रमुख ने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में सपा सरकार बनने के बाद हम प्रदेश स्तर पर जातीय जनगणना करवाएंगे. जिससे पिछड़ों को उनका हक और सम्मान दिया जा सके.
सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले, सरकार बनने पर प्रदेश स्तर पर कराएंगे जातीय जनगणना

लखनऊ. बिहार के बाद अब यूपी में भी जातीय जनगणना को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जातीय जनगणना को लेकर बड़ा बयान दिया है. इस बयान को पिछड़ों को लुभाने के तौर पर भी देखा जा रहा है. अखिलेश यादव कन्नौज में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे, इस दौरान उन्होंने कहा कि 2022 में सपा सरकार बनने के बाद हम प्रदेश स्तर पर जातीय जनगणना करवाएंगे ताकि हम पिछड़ों को उनका हक और सम्मान दे सके. भाजपा सरकार पिछड़ों की जनगणना नहीं कराना चाहती है, क्योंकि वह जानती है कि इससे पिछड़े अपना हक और सम्मान मांगेंगे.

सपा सरकार आते ही समाजवादियों पर लगे झूठे मुकदमे होंगे वापस

अखिलेश यादव ने कहा कि सपा सरकार आते ही सबसे पहले समाजवादी नेताओं के ऊपर लगाए गए झूठे मुकदमों को वापस लिया जाएगा. इस सरकार ने आजम खान जैसे वरिष्ठ नेता को भैंस-बकरी की चोरी जैसे झूठे आरोपों में जेल में बंद रखा है.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानपुर पहुंचकर मनीष गुप्ता के परिवार से की मुलाकात

सपा सरकार आते ही होगी बंपर भर्ती

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में सपा की सरकार बनने के बाद बंपर भर्ती होगी. उन्होंने इस दौरान उन्होंने भाजपा पर झूठ और साजिश रचने का आरोप लगाते हुए इससे बचने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि चुनाव आ रहा है तो कई साजिशें होंगी, इनके झांसे में नहीं आना है. भाजपा सरकार ने पिछले साढ़े चार साल में काम कोई किया नहीं, इसलिए साजिश रची जा रही है. एक-दूसरे से लड़वाया जाएगा.

यूपी में सपा MLA के बिगड़े बोल, ब्राह्मण-क्षत्रियों को बताया चोर, कहा- हमें नहीं चाहिए इनका वोट

बता दें कि अखिलेश यादव गुरुवार को कानपुर पहुंचे. यहां उन्होंने कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता के परिजनों से मुलाकात की और परिजनों से हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया.  इस दौरान अखिलेश ने सरकार से परिवार को 2 करोड़ रुपये और मृतक की पत्नी को नौकरी देने की मांग की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें