SP अध्यक्ष अखिलेश का अमित शाह पर पलटवार, भाजपा में JAM का मतलव झूठ, अहंकार और महंगाई

Haimendra Singh, Last updated: Sun, 14th Nov 2021, 1:06 PM IST
  • शनिवार को आजमगढ़ में स्टेट यूनिवर्सिटी के शिलान्यास के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला था. रविवार को कुशीनगर में प्रेस वार्ता के दौरान अखिलेश यादव ने गृहमंत्री पर पलटवार किया, अखिलेश ने कहा, कि भाजपा के JAM का मतलब है, J से झूठ, A से अहंकार और M का महंगाई है.
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव.( फाइल फोटो )

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी(Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने गृह मंत्री अमित शाह(Amit Shah) के जैम(JAM) वाले बयान पर भाजपा पर पलटवार किया है. रविवार को कुशीनगर में प्रेस वार्ता के दौरान अखिलेश यादव का कहा, कि भाजपा के JAM का मतलब है, J से झूठ, A से अहंकार और M का महंगाई बताया है. उन्होंने कहा, कि भाजपा रोजाना रोज-रोज नाम व रंग बदलने का कार्य तो कर रही है, लेकिन डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस, खाद की कीमतों में लगातार वृद्धि के मुद्दे पर चुप्पी साधे हुए हैं. अखिलेश ने आरोप लगाते हुए कहा, कि भाजपा(BJP) ने अपने कार्यकाल में सिर्फ पुंजीपतियों की जेब को भरा है. मौजूदा सरकार से परेशान राज्य की जनता आगामी चुनाव में भाजपा का सफाया करके समाजवादी पार्टी की सरकार बनाएगी.

शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ स्टेट यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखने आजमगढ़ पहुंचे थे. यहां गृह मंत्री ने सपा अध्यक्ष पर जमकर निशाना साधा. जिन्ना के बयान से अपने भाषण की शुरुआत करते हुए अमित शाह ने जैम का जिक्र किया. भाषण में शाह ने कहा, कि सपा सरकार में जिस आजमगढ़ को आंतकवादी के नाम से जाना जाता था, आज वहां यूनिवर्सिटी का निर्माण किया जा रहा है. यूनिवर्सिटी का निर्माण महाराजा सुहेलदेव के नाम पर रखा जाएगा.

अखिलेश का CM योगी पर तंज कहा - UP को योगी नहीं बल्कि योग्य सरकार की जरूरत

अमित शाह ने की योगी सरकार की तारीफ

अमित शाह के योगी सरकार के कार्यकाल की तारीफ की. उन्होंने कहा, कि योगी सरकार के कार्याकाल में यूपी से आज माफियाराज खत्म हुआ है. शाह ने कहा, कि 2017 में भाजपा ने 10 विश्वविद्यालय बनाने का वादा किया था, जिससे सरकार ने पूरा कर दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें