कृषि बिल पर बोले SP चीफ अखिलेश यादव- किसानों से धोखा है मोदी सरकार का विधेयक

Smart News Team, Last updated: 18/09/2020 08:32 PM IST
  • कृषि विधेयक को लेकर विपक्ष सरकार को घेर रही है. शुक्रवार को सपा अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी विरोध जताते हुए कहा कि ये बिल किसानों के साथ धोखा है.
यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कृषि विधेयक काे किसानों के साथ धोखा बतायाा. प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. कृषि से जुड़े विधेयकों को लेकर पूरे देश में विरोध बढ़ता ही जा रहा है. एक के बाद एक राजनैतिक दल और नेता इसका विरोध कर रहे हैं. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कृषि विधेयक के तीनों बिलों का जमकर विरोध किया. अखिलेश यादव ने कहा कि बिल के माध्यम से किसानों के साथ धोखा हुआ है.

कृषि विधेयक के तीनों बिलों को अखिलेश यादव ने किसान के खिलाफ बड़ी साजिश बताया. अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि ये बिल किसानों के खिलाफ एक साजिश है. इस कठिन समय में किसानों ने हमारी अर्थव्यवस्था को तो बचा लिया लेकिन अब खेती पर बड़े-बड़े उद्योगपतियों की नजर है. जिससे हमारा किसान मजदूर बनकर रह जाएगा. ये बिल लाकर किसानों के साथ धोखा हुआ है.

लव जिहाद पर CM योगी सख्त, धर्म बदलकर शादी करने वालों पर होगी कार्रवाई

इससे पहले अखिलेश यादव ने अपने एक ट्वीट में कहा, भाजपा सरकार खेती को अमीरों के हाथों गिरवी रखने के लिए शोषणकारी विधेयक लाई है. ये खेतों की मेड़ तोड़ने का षड्यंत्र है और साथ ही एमएसपी सुनिश्चित करनेवाली मंडियों के धीरे-धीरे खात्मे का भी. भविष्य में किसानों की उपज का उचित दाम भी छिन जाएगा और वो अपनी ही जमीन पर मजदूर बन जाएंगे.

 

आपको बता दें कि इस बिल का विरोध किसान से लेकर सभी विपक्षी पार्टियां कर रही हैं. शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस विधेयक के लाभ के बारे में बताया. पीएम मोदी ने कहा कि अब ये दुष्प्रचार किया जा रहा है कि सरकार के द्वारा किसानों को एमएसपी का लाभ नहीं दिया जाएगा. पीएम मोदी ने कहा कि मनगढ़ंत बातें कहीं जा रही है, ये सरासर झूठ और गलत है. सरकारी खरीद पहले की तरह ही जारी रहेगी.

सपा बोली- UP में बढ़ रही अराजकता, राज्यपाल बंद कराएं बदले की कार्रवाई

गुरूवार को संसद में कृषि संबंधित अध्यादेशों पर चली लंबी बहस के बाद इसे पारित कर दिया गया था. जिसके बाद केन्द्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. सरकार को विपक्ष का विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें