जेब में Vodka बोतल लेकर घूम रहे थे अखिलेश, जानिए वायरल फोटो का सच !

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Wed, 29th Dec 2021, 7:56 PM IST
  • समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव लखनऊ के जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर का औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे. उसी दौरान एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. इस पर सीएम योगी आदित्यनाथ भी चुटकी लेने में देर नहीं की. बाद में अखिलेश ने फोटो की असलियत लोगों को बताई.
जेब में गर्म पानी की बोतल लेकर घूम रहे थे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की जेब में पड़ी बोतल वाली तस्वीर इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. इस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक चुनावी रैली में सपा अध्यक्ष पर तंज कसा और दावा किया कि उनकी जेब में यह स्वीडन की बोतल थी. सीएम योगी के दावे को गलत बताते हुए अखिलेश ने जवाब दिया कि यह गर्म पानी की बोतल थी.

अखिलेश के इस वायरल फोटो पर घमासान और मच गया जब सीएम ने नशीले पदार्थ की ओर इशारा करते हुए दावा किया. आज तक टीवी चैनल को दिए बयान में अखिलेश यादव ने बताया कि योगी आदित्यनाथ का दावा गलत है और कहा कि सीएम  योगी को जब बीजेपी भांग घुले कुएं का पानी पिला रही है. तब इन्होंने गलत आदमी (पीयूष जैन) के घर छापा मरवा दिया और अब ये गर्म पानी के लिए रखी कांच की बॉटल को न जाने क्या क्या बता रहे हैं.

योगी बोले- अयोध्या राम मंदिर, काशी विश्वनाथ धाम बन रहा, मथुरा-वृंदावन कैसे छूटेगा, काम बढ़ चुका है

सीएम योगी अपनी उस चुनावी रैली में जन सभा को संबोंधित करते हुए आगे कहा कि देखा आपने समाजवादी पार्टी के नेताओं के घर के दीवारों से देवी लक्ष्मी निकलने लगी है. नोटों की अनगिनत गड्डियां, गिने नहीं जा रहे हैं, तीन दिन से गिने जा रहे हैं. गिनते गिनते जब सभी अधिकारी धक गए हैं तो समाजवादी पार्टी के बबुआ जेब में बोतल लेकर फिर रहे हैं. अब उनको अपना असली चेहरा जनता के सामने नहीं दिख रही है तो स्वीडन में बनी बोतल जेब में लेकर नई नौटंकी करते दिख रहे हैं. अखिलेश यादव की वायरल फोटो का असलियत ये है कि वह लखनऊ के जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर का औचक निरीक्षण करने गए थे. उस दौरान उनकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. अखिलेश के जेब में बोतल देख लोग तरह तरह के कयास लगाने लगे. इस पर सीएम योगी आदित्यनाथ की नजर गई तो उन्होंने भी उनके तस्वीर पर चुटकी लेने में देर नहीं की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें