लखनऊ में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण सख्ती, बगैर मास्क के घर से ना निकलें

Smart News Team, Last updated: Fri, 2nd Apr 2021, 1:56 PM IST
  • धार्मिक स्थलों, बाजार, रेस्टोरेंट और बार में बगैर मास्क के एंट्री पूरी तरह से बैन कर दी गई है. कोविड प्रोटोकॉल न मानने पर डीएम ने कार्रवाई करते हुए फन मॉल और माय बार समेत कई प्रतिष्ठानों को सील कर दिया है.
कोविड प्रोटोकॉल न मानने पर कार्रवाई

लखनऊ: कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राजधानी में प्रशासन सख्त हो गया है. धार्मिक स्थलों, बाजार, रेस्टोरेंट और बार में बगैर मास्क के एंट्री पूरी तरह से बैन कर दी गई है. कोविड प्रोटोकॉल न मानने पर डीएम ने कार्रवाई करते हुए फन मॉल और माय बार समेत कई प्रतिष्ठानों को सील कर दिया है. इसके अलावा हनुमान सेतु के गर्भगृह में श्रद्धालुओं के आने-जाने पर भी रोक लगा दी गई है.

लखनऊ में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए काफी सारी पाबंदियां लगाई जा रही हैं. मनकामेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं के द्वारा घंटा बजाने पर प्रतिबंध लगाया गया है. इसके साथ ही मंदिर में 10 साल से कम के बच्चों और 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों को मंदिर ना आने की हिदायत दी गई है.

UP में तेजी से बढ़ रहे कोरोना केस, 1-8वीं कक्षा के स्कूल 11 अप्रैल तक रहेंगे बंद

राजेंद्र नगर स्थित महाकाल मंदिर में घंटा बजाने और प्रसाद चढ़ाने पर प्रतिबंध है. श्रद्धालुओं को मंदिर में मास्क और सैनेटाइज़र के साथ ही आने की सलाह दी गई है. वहीं अलीगंज स्थित नए और पुराने हनुमान मंदिर, कोनेश्वर मंदिर, बड़ा और छोटा शिवाला, संदोहन देवी मंदिर और कालीबाड़ी मंदिरों में मास्क के बगैर प्रवेश वर्जित कर दिया गया है.

अलीगंज पुलिस ने कैफे मालिक पर किया था झूठा केस, सीबीसीआईडी की जांच में निर्दोष साबित

उधर, लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने सभी गुरुद्वारों को कोरोना से बचाव के निर्देश दिए हैं. गुरुद्वारे में गुरु ग्रंथ साहिब के सामने दूर से मत्था टेकने और दरबार में मास्क के साथ ही प्रवेश दिया जाएगा. इसके अलावा लंगर सेवा को दूर से करने के निर्देश दिए गए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें