अखिलेश के बाद राजभर का जागा जिन्ना प्रेम, कहा-जिन्ना PM बने होते तो नहीं होता विभाजन

Atul Gupta, Last updated: Thu, 11th Nov 2021, 8:37 PM IST
  • सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा है कि पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना भारत के बंटवारे के लिए जिम्मेदार नहीं हैं बल्कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ है. उन्होंने कहा अगर जिन्ना पीएम बनते तो देश का बंटवारा नहीं होता
मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर राजभर का बयान (फोटो- सोशल मीडिया)

लखनऊ: चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश के राजनीतिक मैदान में एक बार फिर मोहम्मद अली जिन्ना की इंट्री हो चुकी है. जिन्ना की चर्चा यूपी की राजनीति में चर्चा के केंद्र में हैं. जिन्ना को लेकर चल रही बयानबाजी के बीच सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने भी बयान दिया है. राजभर ने कहा कि पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना भारत के बंटवारे के लिए जिम्मेदार नहीं हैं बल्कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ है. राजभर ने यह भी कहा कि देश को आजादी दिलाने में जिन्ना का भी योगदान है और वह देश के लिए लड़े थे.

राजभर ने दावा किया है कि अगर मोहम्मद अली जिन्ना भारत के प्रधानमंत्री बने होते तो देश का विभाजन नहीं होता. उन्होंने आगे कहा ''उस स्थिति में भारत बड़ा देश होता तथा तमाम तरह की समस्या भी उत्पन्न नहीं होतीं.'' उन्होंने कहा, ''भारत के बंटवारे के दोषी जिन्ना नहीं, बल्कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ है. विवाद की स्थिति संघ ने ही पैदा की थी. अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवाणी और गोविंद बल्लभ पंत सरीखे नेता जिन्ना की प्रशंसा करते रहे हैं. देश को आजादी दिलाने में जिन्ना का भी योगदान है, वह देश के लिए लड़े थे. आजादी मिलने के बाद जिन्ना को प्रधानमंत्री बना देना चाहिए था. ''

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने भी जिन्ना का ज़िक्र किया था जिसे लेकर प्रदेश की राजनीति में ज़बरदस्त बहस हुई थी. फिर वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई नेताओं ने अखिलेश यादव के बयान पर सवाल उठाए थे. अब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के सीनियर नेता अनुराग ठाकुर ने ओमप्रकाश राजभर के बयान पर सवाल उठाए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें