UP में रविवार को लॉकडाउन, CM योगी ने सभी मंडलायुक्त, DM को दिए जरूरी दिशा-निर्देश

Smart News Team, Last updated: Fri, 16th Apr 2021, 2:12 PM IST
  • यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से निपटने के लिए प्रदेश के मंडलायुक्तों, जिलाधिकारी और सीएमओ के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक में कोरोना को लेकर जरूरी दिशा निर्देश जारी किए गए. यूपी में रविवार को लॉकडाउन की घोषणा की गई है.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, सीएमओ के साथ की समीक्षा बैठक.

लखनऊ: कोविड प्रबंधन को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को राज्य के सभी मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, सीएमओ और टीम-11 के सदस्यों साथ समीक्षा बैठक की. बैठक में सीएम ने रविवार को लॉकडाउन की घोषणा की गई है. उन्होंने बताया कि राजधानी लखनऊ में 1000 बेड का नया कोविड हॉस्पिटल स्थापित होगे. लखनऊ के केजीएमयू, बलरामपुर चिकित्सालय और कैंसर इंस्टिट्यूट को डेडीकेटेड कोविड चिकित्सालय बनाया जा रहा है. साथ ही एरा मेडिकल काॅलेज, टीएस मिश्रा मेडिकल काॅलेज, इंटीग्रल मेडिकल काॅलेज, मेयो मेडिकल काॅलेज तथा हिन्द मेडिकल काॅलेज को पूरी तरह डेडीकेटेड कोविड हाॅस्पिटल घोषित किया गया है. इसके अलावा मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों का आयोजन को 15 मई तक के स्थगित कर दिया गया है.

सीएम ने कहा, कि मेडिकल किट में न्यूनतम एक सप्ताह की दवा जरूर रखे. दवाओं की कहीं कोई कमी नहीं चाहिए. इसके अलावा इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में प्रतिदिन डीएम, पुलिस कप्तान और सीएमओ नियत समय पर बैठक करें. साथ ही प्रदेश के सभी जिलों, ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग का कार्य अभियान के रूप में संचालित किया जाए. इसके अलावा सभी जनपदों के कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की पूर्ति रखे. खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा मेडिकल ऑक्सीजन की सुचारु आपूर्ति के संबंध में स्थापित कंट्रोल रूम 24×7 सक्रिय रहे. ऑक्सीजन उपलब्धता की दैनिक समीक्षा करें. किसी प्रकार की आवश्यकता पर शासन को अवगत कराएं.

शवों के अंतिम संस्कार की जानकारी नहीं देगा लखनऊ प्रशासन, लीक हुई तो अफसर सस्पेंड

मुख्य सचिव कार्यालय इस बात की मॉनिटरिंग करें कि खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग रेमिडीसीवीर की पर्याप्त उपलब्धता हो. इसके अलावा प्रदेश के सभी ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में रविवार को साप्ताहिक बन्दी होगी. प्रदेश में सभी के लिए मास्क लगाना अनिवार्य है. पहली बार मास्क के बिना पकड़े जाने पर 1000 का जुर्माना जबकि दूसरी बार बिना मास्क के पकड़े जाने पर दस गुना अधिक जुर्माना लगाया जाना चाहिए. कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी जैसे अधिक संक्रमण दर वाले सभी 10 जिलों में व्यवस्था और सुदृढ़ करने की आवश्यकता है. स्थानीय जरूरतों के अनुसार नए कोविड हॉस्पिटल बनाए जाएं.

पशुधन फर्जीवाड़े के आरोपित सचिवालयकर्मी पुलिस रिमांड पर, कई घंटे हुई पूछताछ

सीएम योगी ने कहा, कि प्रदेश में हर दिन सवा 02 लाख से अधिक कोविड टेस्ट हो रहे हैं. इसे और विस्तार दिए जाने की आवश्यकता है. कोविड से लड़ाई में टेस्टिंग अत्यंत महत्वपूर्ण हथियार है. अन्य प्रदेशों से आने वाले यात्रियों व लोगों के लिए एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन तथा बस स्टेशनों पर रैपिड एन्टीजन टेस्ट की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं.

VIDEO: शमशान में जगह नहीं मिली तो प्लास्टिक शेड के नीचे जलाई चिता, लगी भयंकर आग

यूपी के इन जिलों में अब रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक नाइट कर्फ्यू, पढ़ें लिस्ट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें