SC का UP सरकार को आदेश, कोरोना रोकथाम के लिए उठाए कदम हाईकोर्ट के सामने करें पेश

Smart News Team, Last updated: Tue, 20th Apr 2021, 1:15 PM IST
  • सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ ने यूपी सरकार को आदेश दिया है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के सामने कोरोना रोकथाम के लिए उठाए कदमों को पेश करे. इसी के साथ यूपी के 5 शहरों में लॉकडाउन लगाने के फैसले पर भी रोक लगा दी है.
सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाई.

लखनऊ. सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ ने मंगलवार को आदेश दिया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पिछले एक सप्ताह में कोरोना को नियंत्रित करने के लिए जो भी कदम उठाएं हैं उन्हें हाइकोर्ट के सामने प्रस्तु किया जाए. इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने यूपी के 5 शहरों में लॉकडाउन लगाने के इलाहाबाद हाइकोर्ट के फैसले पर भी रोक लगा दी है. वहीं इस मामले पर दो हफ्ते बाद फिर सुनवाई होगी. 

इलाहाबाद हाईकोर्ट के लॉकडाउन लगाने के आदेश को यूपी सरकार ने सर्वोच्च न्यायलय में चुनौती दी थी. एससी में मंगलवार की सुनवाई में हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी गई है. इससे योगी सरकार को बड़ी राहत मिली है. वहीं सरकार द्वारा कोरोना रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों को हाईकोर्ट में पेश करने के लिए भी कहा है.  

सरकार पर भड़कीं प्रियंका गांधी, कहा- मजदूरों को छोड़ दिया उनके हाल पर

यूपी सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट में बात रखी. मिली जानकारी के अनुसार सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इलाहाबाद हाईकोर्ट को पक्षकार बनाने पर नाराजगी जताई. कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट को प्रतिवादी की लिस्ट से हटाया जाए. सुप्रीम कोर्ट में वकील तुषार मेहता ने कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण रोकथाम के लिए कई कदम उठाए हैं और कई उठाने जाने हैं. वहीं हाईकोर्ट का लॉकडाउन लगाने का फैसला सही नहीं है. 

यूपी सरकार विदेश में नौकरी करने की राह करेगी आसान, जानें कैसे

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें