पशुपालन घोटाले में फरार चल रहे DIG अरविंद सेन ने करप्शन कोर्ट में किया सरेंडर

Smart News Team, Last updated: Wed, 27th Jan 2021, 4:04 PM IST
  • पशुपालन घोटाले के मामले में कई महीनों से फरार चल रहे निलंबित डीआईजी अरिवंद सेन ने बुधवार को भ्रष्टाचार उन्मूलन कोर्ट में आत्मसमर्पण किया. सोमवार को कोर्ट ने आईपीएस अरविंद सेन की अग्रिम जमानत खारिज कर दी थी.
पशुधन फर्जीवाड़े में फंसे आईपीएस अरविंद सेन ने कोर्ट में किया सरेंडर.

लखनऊ. पशुधन फर्जीवाड़े के मामले में फरार चल रहे निलंबित डीआईजी अरविंद सेन ने बुधवार को भ्रष्टाचार उन्मूलन कोर्ट में सरेंडर कर दिया है. इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने सोमवार को फरार चल रहे आईपीएस अरविंद सेन की अग्रमि जमानत खारिज कर दी थी. कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने डीआईजी के घर पर कुर्की का नोटिस चस्पाकर डुगडुगी पीटी थी. 

आपको बता दें कि 13 जून को पशुपालन के फर्जीवाड़े मामले में व्यापारी मंजीत भाटिया ने डीआईजी अरविंद सेन के खिलाफ हजरतगंज थाने में रिपोर्ट लिखाई थी. आईपीएस अरविंद सेन पर आरोप है कि पशुधन विभाग में करोड़ो रुपए के ठेके दिलाने के नाम पर उन्होंने ठगी की है. अरिवंद सेन पर आरोपियों को बचाने के लिए 35 लाख रुपए लेने का भी आरोप है. इस मामले के सामने के बाद सरकार ने डीआईजी अरविंद सेन को सस्पेंड कर दिया था.

बलरामपुर अस्पताल प्रशासन पर सवाल, नोटिस में 26 जनवरी को लिखा 26 अगस्त

गिरफ्तारी के डर से निलंबित डीआईजी अरविंद सेन फरार हो गए थे. पुलिस ने उनको पकड़ने के लिए 50 हजार रुपए का इनाम भी रखा था. जिसके बाद एसीपी श्वेता श्रीवास्ताव की अर्जी पर कोर्ट ने अरविंद सेन को भगोड़ा घोषित करते हुए संपत्ति को कुर्की करने का आदेश दिया था. इसके बाद ही पुलिस ने उनके घर पर कुर्की का नोटिस चस्पा दिया था. पुलिस और एसटीएफ की कई टीमें अरविंद सेन की तलाश में जुटी हुई थी.

यूपी: कई विभागों को खत्म करने की सिफारिश, मुख्यमंत्री को सौंपी रिपोर्ट

गिरफ्तारी के डर से दो दिन पहले सोमवार को डीआईजी अरविंद सेन ने कोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी दी थी जिसे खारिज कर दिया था. जिसके बाद 16 जून से फरार चल रहे डीआईजी अरविंद सेन ने बुधवार को पीसी थर्ड कोर्ट में आत्मसमर्पण किया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें