PM और CM की फोटो लगाकर स्वदेशी मोबाइल कंपनी लांच, पांच पर FIR, 2 अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: Wed, 6th Jan 2021, 2:24 PM IST
  • प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की फोटो का इस्तेमाल करके स्वदेशी मोबाइल कंपनी लांच की गई. प्रशासन के आदेश के बाद पुलिस ने गुपचुप तरीके से कार्रवाई शुरू कर दी है जिसमें कई लोगों का नाम शामिल है.
पीएम और सीएम की फोटो का इस्तेमाल करके स्वदेशी मोबाइल के नाम पर कंपनी लांच. (साभार-सोशल मीडिया)

लखनऊ. यूपी की एक कंपनी ने मोबाइल फोन लांच के दौरान होर्डिंग और पोस्टर पर पीएम और सीएम की फोटो ली थी जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गुपचुप तरीके से अरेस्ट करके जेल भेज दिया था. मंगलवार को हजरतगंज पुलिस ने निजी पीआर कंपनी के संचालक आशीष गुप्ता को अरेस्ट किया था. पुलिस ने इन दोनों पर चल रही कार्रवाई को छिपाकर रखा था.

मोबाइल फोन लांच में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की फोटो इस्तेमाल करने के मामले में 26 दिसंबर को राजमंत्री के भाई ललित अग्रवाल समेत पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी. मामले में एफआईआर में नामजद ललित और अन्य नामजद जिसमें एक अखबार की प्रचार कंपनी के जीएम इंदिरानगर निवासी नरेंद्र निगम, डिप्टी जीएम दीपक श्रीवास्तव, बिहार के समस्तीपुर निवासी रामबाबू मंडल पर पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है.  

झारखंड से बच्चों को लाकर UP में कराते मोबाइल चोरी फिर विदेशों में होती सप्लाई

वहीं पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार आरोपियों में आशीष और डीपी त्रिपाठी का नाम सामने आया है. अन्य की भूमिका की जांच जारी है. पुलिस अधिकारी के अनुसार इन दोनों आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी. हालांकि पुलिस इस मामले में ज्यादा जानकारी साझा करने से बच रही है. 

लखनऊ के रास्ते में मजदूर की मौत, एंबुलेंस ने उतारा, रात भर खुले में पड़ा रहा शव

जानें क्या है पूरा मामला

मोबाइल लांच के प्रचार के लिए यूपी में कई जगह होर्डिंग लगवाए गए थे. इस में देश में बना स्मार्टफोन के तौर पर प्रचार किया गया था. होर्डिंग में सीएम और पीएम की तस्वीर को इस तरह से लगाया गया था जिससे लगे कि यह कंपनी सरकार के प्रोजेक्ट का हिस्सा है. कंपनी को लांच करने वाले ललित अग्रवाल के भाई सरकार में राज्यमंत्री हैं. ताज होटल में हुए लांचिग कार्यक्रम में कई विधायकों समेत जन प्रतिनिधि और अफसर शामिल हुए थे. 

प्यार में पागल छात्र ने टीचर का फर्जी अश्लील फेसबुक अकाउंट बनाकर डाल दिया रेट कार्ड

होर्डिंग पर पीएम और सीएम की फोटो लगी होने से मामला बड़ा हो गया तो शासन ने जांच के आदेश दिए. जिससे हड़कंप मच गया और जल्दबाजी में आरोपियों ने खुद ही हजरतगंज और अन्य इलाकों में लगे होर्डिंग उतार दिए थे. 

होटल कर्मचारियों ने महिला को बनाया बंधक! पीड़िता ने लगाया यूरिन पिलाने का आरोप 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें