सपा में एंट्री से पहले बोले स्वामी प्रसाद मौर्य- BJP के खिलाफ सूनामी, मात्र 47 सीट जीतेगी

Somya Sri, Last updated: Fri, 14th Jan 2022, 7:40 AM IST
  • आज यानी मकर संक्रांति के मौके पर बीजेपी का साथ छोड़ चुके विधायक व मंत्री अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. गुरुवार को स्वामी प्रसाद मौर्य की अखिलेश यादव से मुलाकात हुई थी. जिसके बाद उन्होंने मीडिया में कहा कि बीजेपी साल 2012 के चुनावों में से भी नीचे 47 सीटों पर सिमट जाएगी.
सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ स्वामी प्रसाद मौर्य और रोशन लाल वर्मा (फोटो-सोशल मीडिया) 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी को एक के बाद एक झटका लग रहा है. अबतक पार्टी के दर्जन भर से अधिक नेता व विधायकों ने भाजपा छोड़ दी है. मकर सक्रांति यानी आज 14 जनवरी को भाजपा को एक और बड़ा झटका लग सकता है. माना जा रहा है कि आज ही बीजेपी का साथ छोड़ चुके विधायक व मंत्री अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. इसी सिलसिले में कल स्वामी प्रसाद मौर्य ने सपाअध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद मौर्य मीडिया से मुखातिब हुए और जमकर बीजेपी को आड़े हाथों लिया.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, "हमने विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराने का संकल्प लिया था. 14 जनवरी यानी मकर सक्रांति के दिन सपा के साथ संयुक्त घोषणा होगी. उत्तर प्रदेश में भाजपा के खिलाफ सुनामी चल रही है और बीजेपी को साल 2012 विधानसभा चुनावों में जीती गई 47 सीटों की संख्या से भी (नीचे) लाया जाएगा."

UPTET परीक्षार्थियों के लिए खुशखबरी, 3 दिनों तक फ्री में रोडवेज बसों से कर सकेंगे सफर

उन्होंने कहा "मैं उन सभी स्वाभिमानी मंत्रियों और विधायकों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है जिन्होंने पिछड़े और दलित समुदाय की उपेक्षा की है. सभी पिछड़े और दलित समुदाय की गरिमा और कल्याण को बहाल करने के लिए एक छतरी (सपा) के नीचे आ रहे हैं."

उन्होंने आगे कहा, "मेरे इस फैसले से बीजेपी में भूचाल आ गया है, 14 जनवरी को भगवा ब्रिगेड में बड़ा कोहराम मच जाएगा. मैंने भाजपा नेताओं से दलितों और पिछड़ों के कल्याण के लिए गुहार लगाई लेकिन उन्होंने कोई परवाह नहीं की. अब बीजेपी नेता विधायकों को पार्टी छोड़ने से रोकने के लिए तमाम हथकंडे अपना रहे हैं, लेकिन बीजेपी के मंत्रियों और विधायकों का इस्तीफा 14 जनवरी के बाद भी जारी रहेगा." उन्होंने कहा ,"उत्तर प्रदेश भाजपा के लिए चरागाह नहीं है. जनता ने उन्हें विधानसभा चुनाव में विदाई देने का फैसला कर लिया है."

यूपी: BJP के बाद NDA में भगदड़, अपना दल विधायक अमर सिंह का इस्तीफा, सपा जाएंगे

मालूम हो कि गुरुवार को यूपी के एक और बीजेपी विधायक ने पार्टी का दामन छोड़ दिया. लखीमपुर खीरी से 5 बार के विधायक बाला प्रसाद अवस्थी ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया. गुरुवार को ही मंत्री धर्म सिंह सैनी, बीजेपी विधायक विनय शाक्य और मनोज वर्मा ने भी पार्टी को अलविदा कहा. इससे पहले योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान और धर्म सिंह सैनी समेत 13 विधायक बीजेपी छोड़ चुके हैं. बाला प्रसाद अवस्थी इस्तीफा देने वाले 14वें बीजेपी एमएलए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें