अयोध्या बाबरी बरसी से पहले मथुरा में हालात बिगड़ने की आशंका, कई रास्ते सील

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 5th Dec 2021, 8:01 PM IST
  • अयोध्या बाबरी विध्वंस बरसी के दिन यानी 6 दिसंबर को हिंदू महासभा के शाही मस्जिद ईदगाह जलाभिषेक के ऐलान के बाद अब मथुरा में हालात बिगड़ने की आशंका को देखते हुए पूरा इलाका हाई अलर्ट पर कर दिया है. सुरक्षाबलों की कंपनियों को बढ़ा दिया गया और शाही मस्जिद ईदगाह पर जाने वाले रास्तों को सील कर दिया है.
अयोध्या बाबरी बरसी से पहले मथुरा में हालात बिगड़ने की आशंका, कई रास्ते सील

आगरा. 6 दिसंबर को भारतीय हिंदूवादी संगठनों देवारा अयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर मथुरा स्थित कृष्ण जन्मभूमि के जलाभिषेक का ऐलान किया है. जिसके बाद 6 दिसंबर को मथुरा की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इस दौरान प्रशासन मुस्तैदी से लगा हुआ है और अलर्ट मोड पर हर गतिविधि पर निगरानी रखे हुए है.

जिला प्रशासन से 6 दिसंबर को बाबरी विध्वंस की बरसी पर अखिल भारतीय हिन्दू महासभा, श्री कृष्ण जन्मभूमि निर्माण न्यास, नारायणी सेना और श्रीकृष्ण मुक्ति दल ने मथुरा में गैर-पारंपरिक कार्यक्रम की अनुमति प्रशासन से मांगी है. 

नीतीश कुमार की JDU के महासचिव KC त्यागी के बेटे अमरीश BJP में शामिल

तीन जोन में बांटा गया मथुरा, कई कंपनियां तैनात

पुलिस प्रशासन ने जिले में 6 दिसंबर को बाबरी विध्वंस की बरसी की संवेदनशीलता को देखते हुए जिले को तीन जोन में बांट दिया है. जिसको लेकर एसएसपी गौरव ग्रोवर ने बताया कि सबसे संवेदनशील जोन रेड है जिसमें केशवदेव मंदिर और शाही ईदगाह आती है, वहां सबसे अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. जिले के हर इंट्री प्वाइंट पर चेकिंग की जा रही है.

कृष्णा की प्रतिमा स्थापित करने की मांगी इजाजत

जिला प्रशासन से अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने परिसर में श्रीकृष्ण की प्रतिमा स्थापित करने की मांग की है. हालांकि डीएम नवनीत चहल ने बताया कि 6 दिसंबर को संवेदनशीलता को देखते हुए इस तरह की किसी भी तरह की अनुमति देने से मना कर दिया गया है. ऐसे किसी भी कार्यक्रम को इजाजत नहीं दी गई है. जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है.

जरूरी खबर: 31 दिसंबर तक नहीं भरा ITR तो लगेगा भारी जुर्माना, जानें डिटेल्स

2100 पुलिस और पैरा मिलिट्री के जवान धार्मिक स्थलों पर तैनात

मथुरा में आज से पुलिस के जवान भारी संख्या में तैनात हो गए हैं. 2100 पुलिस और पैरा मिलिट्री के जवान धार्मिक स्थलों पर तैनात किए गए हैं. जिसे में रेड जोन में वाहनों को पूरी से रोक दिया गया है. इस तरह येलो जोन में आने वाले इलाकों में भी वाहनों को जाने पर रोक है. बिना आधार कार्ड के श्रीकृष्ण जन्मभूमि के आसपास के निवासियों को नहीं जाने दिया जाएगा. वहीं, माहौल बिगाड़ने वाले से प्रशासन सख्ती से निपटने की तैयारी कर चुका है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें