UPTET 2021-22: परीक्षार्थियों के लिए सिटी बसों में मुफ्त यात्रा, सुविधा आज से

Ruchi Sharma, Last updated: Sat, 22nd Jan 2022, 1:26 PM IST
  • उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को लखनऊ के चार बस अड्डों से सिटी बसों की नि:शुल्क सुविधा मिलेगी.परीक्षार्थियों को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा की सुविधा 22 से 24 जनवरी रात 12 बजे तक मिलेगी. परीक्षार्थी प्रवेश पत्र की फोटो कापी बस कंडक्टर को देकर फ्री में सफर कर सकेंगे.
प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. यूपीटीईटी यानी उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों के लिए राहत भरी खबर है. दरअसल प्रशासन परीक्षार्थियों को रोडवेज बसों की फ्री सेवा उपलब्ध कराने जा रहा है. परिवहन निगम की ओर से इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं. निर्देश के मुताबिक लखनऊ के चार बस अड्डों से सिटी बसों की नि:शुल्क सुविधा मिलेगी. परीक्षार्थियों को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा की सुविधा 22 से 24 जनवरी रात 12 बजे तक मिलेगी. परीक्षार्थी प्रवेश पत्र की फोटो कापी बस कंडक्टर को देकर फ्री में सफर कर सकेंगे. शासन के बीते 23 दिसंबर के आदेश के तहत परीक्षार्थियों को मुफ्त बस सेवा मुहैया कराई जाएगी.

बस में यात्रा के दौरान कोविड प्रोटोकाल के नियमों के तहत जितनी सीटें होंगी उतने ही परीक्षार्थी सफर कर सकेंगे. परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र तक पहुंचाने के लिए सिटी बसें भी चलेंगी.

 

लाल नहीं दुनिया में 43 लोगों का है गोल्डन ब्‍लड ग्रुप, सिर्फ 9 सक्रिय दाता

 

इन स्टेशनों में मिली बस

परीक्षार्थियों के लिए बसें चारबाग, आलमबाग, कैसरबाग और अवध बस स्टेशन के प्लेटफार्म पर खड़ी रहेगी. यहां से शहर के विभिन्न रूटों को चिन्हित करते हुए परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक पहुंचाया जाएगा. इसके लिए चारों बस अड्डों पर हेल्पडेस्क बनाया गया है. आपको हेल्प डेस्क से सभी तरह की जानकारी मिलेगी.

140 सीएनजी और 60 इलेक्ट्रिक बसें होंगी

सिटी ट्रांसपोर्ट के एमडी पल्लव बोस ने बताया कि परीक्षार्थी परीक्षा सेंटर का स्थान बताएंगे तो उन्हें बस नंबर बताया जाएगा. परीक्षार्थी उसी नंबर की बस में सवार होकर अपने परीक्षा सेंटर पहुंच सकेंगे. चारों बस अड्डों पर 50-50 बसों का बेड़ा रहेगा. इनमें 140 सीएनजी और 60 इलेक्ट्रिक बसें होंगी. बसों की निशुल्क सेवा शनिवार से रविवार रात 12 बजे तक मिलेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें