STF का खुलासा- लखनऊ में व्यापारी की हत्या करने आया था मुख्तार का शूटर

ABHINAV AZAD, Last updated: Thu, 28th Oct 2021, 10:45 AM IST
  • मुख्तार का शूटर अलीशेर अपने दाहिने हाथ कामरान के साथ लखनऊ के एक व्यापारी नेता की हत्या करने के इरादे से आया था. अलीशेर का नेटवर्क मुख्तार की वजह से उत्तर प्रदेश के कई शहरों में है. इनकी बदौलत वह पिछले महीने से यूपी में ही छिपा हुआ था.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. एसटीएफ ने अलीशेर के मोबाइल की कॉल डिटेल और उसकी जेब से मिली डायरी के आधार पर नया खुलासा किया है. दरअसल, मुख्तार का शूटर अलीशेर अपने दाहिने हाथ कामरान के साथ पुराने लखनऊ के एक व्यापारी नेता की हत्या करने के इरादे से आया था. बताया जा रहा है कि वह इस नेता की पहले भी रेकी कर चुका है. दरअसल, वह हत्या के लिए ही कार्बाइन व पिस्टल लेकर आया था. हालांकि एसटीएफ व्यापारी नेता का नाम नहीं बता रही है लेकिन उन्हें सुरक्षा देने के लिए पुलिस से कहा गया है.

एसटीएफ के एएसपी विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि अलीशेर का नेटवर्क मुख्तार की वजह से उत्तर प्रदेश के कई शहरों में है. इनकी बदौलत वह पिछले महीने से यूपी में ही छिपा हुआ था. उसका पासपोर्ट भी बना हुआ है. बताया जा रहा है कि आजमगढ़ में कलामुद्दीन की हत्या के बाद वह दुबई भाग गया था. वहां से आने के बाद ही उसने झारखंड में बीजेपी नेता जीतराम की हत्या कर सनसनी फैला दी थी. एसटीएफ ने बताया कि यह पता किया जा रहा है कि बरामद कार्बाइन इस गिरोह को कहां से मिली. साथ ही यह भी पता किया जा रहा है कि कहीं यूपी में ही यह कार्बाइन किसी पुलिसकर्मी से नहीं छीनी गई. दरअसल, इस बारे में बिहार, झारखंड व छत्तीसगढ़ पुलिस से भी ब्योरा मांगा गया है.

लखनऊ में बदमाशों ने रेस्टोरेंट संचालक को मारी गोली, हालत नाजुक

बताते चलें कि एसटीएफ ने दावा किया है कि मुख्तार गिरोह में शामिल होने के बाद वह अपना दबदबा बढ़ाने में लगा था. पूर्वांचल के कई हिस्सों में वह कई बड़े लोगों से वसूली ले चुका है. मुख्तार की शह पर वह अपराध जगत में हावी होता जा रहा था. दावा किया जा रहा है कि अलीशेर ने झारखंड व छत्तीसगढ़ में कई वारदात को अंजाम दिया है. साथ ही बताया जा रहा है कि लखनऊ में जब व्यापारी नेता की हत्या की सुपारी ली तो भी वह कामरान को ही लेकर लखनऊ आया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें