गोण्डा के तत्कालीन बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति का निलंबन वापस

ABHINAV AZAD, Last updated: Sat, 4th Dec 2021, 9:04 AM IST
  • गोण्डा के तत्कालीन बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को अवैध धनराशि की वसूली में शामिल होने के आरोप में फरवरी 2021 में निलंबित कर दिया गया था. जिसके बाद मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक ने पूरे मामले की जांच की. इस जांच में सबूत नहीं मिलने के बाद उन्हें फिर से बहाल कर दिया गया है.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. गोण्डा के निलंबित बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को बहाल कर दिया गया है. दरअसल, फरवरी 2021 में तत्कालीन बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को निलंबित कर दिया गया था. बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को अध्यापकों से हुई अवैध धनराशि की वसूली में शामिल होने के आरोप में निलंबित किया गया था.

इस आरोप के बाद तत्कालीन बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को निलंबित कर दिया गया था. उसके बाद इस पूरे मामले की जांच मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक ने की थी. लेकिन आरोपी बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति के खिलाफ आरोप साबित नहीं हो पाया. जिसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने आरोप साबित नहीं के बाद उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई को समाप्त करते हुए सेवा में बहाल कर दिया गया है.

लखनऊ: विश्व दिव्यांग दिवस पर विशेष रोजगार मेला, स्वरोजगार के लिए 10 हजार की आर्थिक मदद

गौरतलब है कि फरवरी 2021 में तत्कालीन बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को अध्यापकों से हुई अवैध धनराशि की वसूली में शामिल होने के आरोप में निलंबित कर दिया गया था. उसके बाद मामले की जांच मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक ने की थी. लेकिन आरोपी बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला. जिसके बाद प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई को समाप्त करते हुए सेवा में बहाल कर दिया गया है. बताते चलें कि गोण्डा के निलंबित बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को बहाल कर दिया गया है. बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति को अध्यापकों से हुई अवैध धनराशि की वसूली में शामिल होने के आरोप में फरवरी 2021 में निलंबित किया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें