कार में सफर करने वालों के लिए जरूरी खबर, अब थ्री-पॉइंट सीटबेल्ट होगा जरूरी

Ruchi Sharma, Last updated: Wed, 9th Feb 2022, 4:55 PM IST
  • केंद्र सरकार जल्द ही सभी सीटों के लिए 3 पॉइंट सीट बेल्ट अनिवार्य करने जा रही हैं. मतलब कार में बैठने वाला तीसरा सदस्य के लिए भी 3 पॉइंट सीट बेल्ट जरूरी होगा.
थ्री-पॉइंट सीटबेल्ट होगा जरूरी

अगर आप कार चलाते हैं या कार में सफर करते हैं तो आपको अपनी सावधानी के लिए यह खबर जरूर पढ़ लेनी चाहिए. केंद्र सरकार ने कारों में सीट बेल्ट से जुड़े नियमों को लेकर बड़ा बदलाव करने जा रही है. सरकार जल्द ही सभी सीटों के लिए 3 पॉइंट सीट बेल्ट अनिवार्य करने जा रही हैं. मतलब कार में बैठने वाला तीसरा सदस्य के लिए भी 3 पॉइंट सीट बेल्ट जरूरी होगा. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार जल्द ही वाहन निर्माताओं के लिए कार की सभी सीटों पर 3 पॉइंट सीट बेल्ट उपलब्ध कराएगा. जिसमें पीछे की सीट के बीच में बैठे तीसरे यात्री के लिए भी अब सीट बेल्ट जरूरी होगा.

इस बात की जानकारी इस बात की जानकारी सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के एक अधिकारी ने दी है. वर्तमान समय अधिकांश कारों में केवल आगे की सीटों और पीछे की सीटों पर दो यात्रियों के लिए थ्री-प्वाइंट सीटबेल्ट मिलते हैं, जिन्हें वाई-आकार का बेल्ट भी कहा जाता है. हालांकि, इन कारों में पीछे या सेकेंड रो कही जाने वाली सीट पर केवल दो यात्रियों के लिए थ्री-प्वाइंट सीट बेल्ट ही दिए जाते हैं. वहीं मध्य में बैठने वाले यात्री के लिए केवल टू-प्वाइंट सीट बेल्ट ही मिलते हैं.

Bihar SHSB Job: बिहार में स्वास्थ्य विभाग में बंपर सरकारी नौकरी, ऐसे करें आवेदन

इस मामले में MoRTH ने लगभग एक महीने में एक अधिसूचना जारी करने की संभावना है, जिसके बाद जनता से सुझाव मांगे जाएंगे. सामन्य तौर पर लैप बेल्ट के मुकाबले थ्री-प्वाइंट सीट बेल्ट्स ज्यादा सुरक्षित माने जाते हैं. बता दें कि इससे पहले सरकार 8 सवारी ले जाने वाली कारो में 6 एयरबैग भी अनिवार्य करने की घोषणा कर चुकी है. सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कुछ वक्त पहले अपने कई ट्वीट में कहा था कि वाहनों में सवार लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वाहन विनिर्माताओें को गाड़ियों में एयरबैग की संख्या बढ़ानी होगी. उन्हें आठ सवारियों तक की क्षमता वाले वाहनों में न्यूनतम छह एयरबैग लगाने को कहा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें