व्यापार मंडल की CM योगी से मांग- वापस हों कर्फ्यू के समय कारोबारियों पर दर्ज केस

Smart News Team, Last updated: Mon, 31st May 2021, 12:00 AM IST
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर कोरोना कर्फ्यू के दौरान दुकान खोलने को लेकर कई व्यापारियों पर दर्ज मुकदमे की वापसी की मांग किया. साथ ही अन्य कई तरह की समस्याओं को मुख्यमंत्री के सामने रखा.
बिना बीमा की दुकान में आग और चोरी की घटना वाले व्यापारियों की आर्थिक सहायता की मांग की गई. (फाइल चित्र)

लखनऊ : कोरोना कर्फ्यू के दौरान व्यापारियों दुकानदारों पर दर्ज किए गए मुकदमे को वापस लेने सहित कई अन्य मांगों को लेकर यूपी उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात किया. प्रदेश सरकार के कोरोना कर्फ्यू की गाइडलाइंस का व्यापारियों ने खुशी जताते हुए सराहना किया. प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान दुकान खोलने वाले व्यापारियों का मकसद कोई अपराध करना नहीं था. इस लिए उनसे जुर्माने न ले और उन पर लगे मुकदमे हटा लिया जाए. व्यापारियों ने कर्फ्यू के दौरान लाइसेंस के रिन्यूअल नहीं करा पाए है, क्योंकि बांट माप विभाग, श्रम अन्य विभाग में कर्मचारियों के कमी के चलते हुआ. इसलिए व्यापारियों पर कोई कार्रवाई न हो.

व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने सीएम योगी से कोविड-19 के कारण अपने आर्थिक तंगी का जिक्र करते हुए कहा कि व्यापारियों का कोरोना की पहली लहर से लेकर अब तक आर्थिक समस्या से जूझ रहे हैं. कई व्यापारी के दुकान और घर की बिजली का बिल बाक़ी रह गया है. इस लिए दुकान और बिजली के घर का कनेक्शन न काटा जाए.  मंडल ने आगे मांग किया कि बिना बीमा वाली दुकानों में आग और चोरी से नुकसान हुआ है. उन दुकानदारों को आर्थिक सहायता दी जाए.

लखनऊ मेदांता में भर्ती सपा MP आजम खान की हालत गंभीर, ऑक्सीजन सपोर्ट पर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के दौरान उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष मुकुंद स्वरूप मिश्रा, कानपुर उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष टीकम चंद्र सेठिया, संगठन के प्रांतीय मंत्री राजेंद्र गुप्ता , प्रांतीय महामंत्री डॉक्टर दिलीप सेठ ने मुलाकात किया. इस मुलाकात में सीएम योगी से व्यापारियों ने अपनी समस्या बताई. सीएम योगी ने इन समस्याओं को हल करने का भरोसा दिया.

इटावा में बिना वैक्सीनेशन नहीं मिलेगी शराब, क्या पूरे UP में लागू होगा ये मॉडल ?

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें