UP Election: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चुनाव आयोग को कोरोना के हालात से कराया अवगत

ABHINAV AZAD, Last updated: Fri, 7th Jan 2022, 12:58 PM IST
  • उत्तर प्रदेश समेत देश के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने निर्वाचन आयोग को कोरोना वायरस के फैलाव और कोविड वैक्सीनेशन पर विस्तृत ब्यौरा दिया.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. (वार्ता) उत्तर प्रदेश समेत देश के पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव होने हैं. इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने निर्वाचन आयोग को चुनाव वाले पांच राज्यों में कोविड के हालात से रूबरू कराया. साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने निर्वाचन आयोग को कोरोना वायरस के फैलाव और कोविड वैक्सीनेशन पर विस्तृत ब्यौरा दिया.

मंत्रालय ने यहां जारी एक स्पष्टीकरण में कहा कि गुरुवार को निर्वाचन आयोग के साथ स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में पांच चुनाव वाले राज्यों में कोरोना महामारी के प्रसार और कोविड टीकाकरण की ताजा स्थिति की विस्तृत जानकारी दी गयी.

UP में 14 कंपनियों से 6100 लोगों को रोजगार, समूह ग की नौकरियों में खिलाड़ियों को आरक्षण

मंत्रालय ने कहा कि मीडिया के एक वर्ग में ‘देश में कोविड की स्थिति के बारे में चिंतित होने की कोई बात नहीं है’ और ‘घबराने का कोई कारण नहीं है’ जैसी टिप्पणियां आधारहीन, त्रुटिपूर्ण और भ्रामक हैं.

मंत्रालय ने कहा कि इस तरह की खबरें बेहद गलत सूचना देने वाली, गुमराह करने वाली और सच्चाई से कोसों दूर हैं. इन रिपोर्टों में महामारी के बीच एक गलत सूचना अभियान शुरू करने की बहुत अधिक प्रवृत्ति अधिक है.

मंत्रालय ने कहा कि स्वास्थ्य सचिव के साथ बैठक चुनाव वाले पांच राज्यों पर केंद्रित रही और कोविड से संबंधित स्थिति से निर्वाचन आयोग को अवगत कराया गया। पांच राज्यों उत्तराखण्ड, उत्तरप्रदेश, पंजाब, गोवा और मणिपुर में आने वाले महीनों में विधानसभा चुनाव होंगे.

एक अन्य स्पष्टीकरण में मंत्रालय ने कहा है कि 15-18 आयु वर्ग के बच्चों को दिये जा रहे कोविड टीके कोवैक्सिन को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोविड संक्रमण से बचाव की आपात सूची दवा में शामिल किया है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में आयी खबरें भी गलत और भ्रामक हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें