UP Election: सपा-बसपा का सूपड़ा साफ करेंगे, कांग्रेस का नहीं खुलेगा खाता- अमित शाह

ABHINAV AZAD, Last updated: Fri, 17th Dec 2021, 4:56 PM IST
  • बीजेपी और निषाद पार्टी की संयुक्त रैली में केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह बीजेपी ने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव में सपा-बसपा का सूपड़ा साफ करेंगे. साथ ही ऐसा काम करना है कि कांग्रेस का अकाउंट नहीं खुलें. इस दौरान यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे.
अमित शाह बीजेपी ने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव में सपा-बसपा का सूपड़ा साफ करेंगे.

लखनऊ. केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह बीजेपी और निषाद पार्टी की संयुक्त रैली में पहुंचे. अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में सपा-बसपा का सूपड़ा साफ करेंगे. साथ ही ऐसा काम करना है कि कांग्रेस का अकाउंट नहीं खुलें. इस दौरान उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी रहे. केंद्रीय गृह मंत्री के पहुंचने के बाद कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया. जिसके बाद अमित शाह और योगी आदित्यनाथ ने रैली में उमड़ी भीड़ का अभिनंदन किया. 'सरकार बनाओ अधिकार पाओ' रैली का आयोजन लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में किया गया. बताया जा रहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री दो अन्य कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे.

अमित शाह ने मंच निषाद के साथ इस बार 300 पार का नारा दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि 2019 की जीत में निषाद समुदाय का बड़ा योगदान था. अमित शाह ने कहा कि आज रमाबाई मैदान राम भक्तों का जमावड़ा है. उन्होंने सवाल किया श्रीराम को तिरपाल किसने रखा. उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण में बाधा डाली गई. अब जहां राम का जन्म हुआ वहां भव्य और विशाल मंदिर का निर्माण हो रहा है. गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी गरीबों और पिछड़ों की सरकार है.

अखिलेश बोले- मंत्री टेनी सस्पेंड हों, योगी अपना फेवरिट बुलडोजर लखीमपुर खीरी कब ले जा रहे?

केंद्रीय गृह ने कहा कि बीजेपी गरीबों और पिछड़ों की सरकार है. उत्तर प्रदेश में अब माफियाओं की खैर नहीं है. यहां गुंडा राज खत्म किया. विपक्ष समाज को बांटने का काम कर रही है. इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले माफियाओं को संरक्षण मिलता था, लेकिन अब बुलडोजर चलती है. बीजेपी जो कहती है वो करती है. उन्होंने कहा कि अयोध्या में आज राम मंदिर भव्य निर्माण हो रहा है. निषाद समाज हमेशा श्रीराम याद किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें