राज्यों की सुगमता रैंकिंग में यूपी ने मारी उछाल, सूची में मिला दूसरा स्थान

Smart News Team, Last updated: 05/09/2020 09:01 PM IST
  • केन्द्र सरकार ने शुक्रवार को स्टेट बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान 2019 जारी किया. राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता रैंकिंग में उत्तर प्रदेश ने दूसरा स्थान हासिल किया है. वहीं पहले स्थान पर आन्ध्र प्रदेश है.
वर्चुअल प्रेस कांफ्रेस के माध्यम से राज्यों की रैंकिंग जारी करती केन्द्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण

लखनऊ. केन्द्र सरकार द्वारा जारी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की स्टेट बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान 2019 में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर है. राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता रैंकिंग में पहला स्थान आंध्र प्रदेश ने हासिल किया है. इस रैंकिंग में तीसरे स्थान पर तेलंगाना है. व्यापार करने में आसानी में उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) द्वारा तैयार किए गए 2019 के सूची में उत्तर प्रदेश और तेलंगाना को क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रखा गया है.

मायावती ने नीतीश सरकार को घेरा,बोलीं- SC/ST वर्ग के लोग सावधान रहें

इस सूची को जारी करने के लिए राज्यों की कई मानकों पर रैंकिंग की जाती है. इसमें निर्माण परमिट, श्रम नियमन, पर्यावरण पंजीकरण, सूचना तक पहुंच, जमीन की उपलब्धता और एकल खिड़की प्रणाली के जैसे मानक शामिल हैं. इस प्रकिया को कारोबार सुधार कार्रवाई योजना के तहत उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के लिए पूरा करता है. केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ''देश में कारोबारी माहौल को सुगम करने के कदम के तहत हम कल राज्यों की रैंकिंग जारी करेंगे. उन्होंने बताया कि यह रैंकिंग कारोबारी सुधार कार्रवाई योजना के क्रियान्वयन पर आधारित होगी.

लखनऊ में बीच सड़क महिला को छेड़ा, कपड़े फाड़े, पति बोला तो बेरहमी पीटा

सर्वश्रेष्ठ तीन राज्य

राज्यों को लेकर कारोबार करने की सुगमता की सूची जारी करने की इस पूरी प्रक्रिया का मकसद राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा को बढ़ाना और घरेलू व वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कारोबारी माहौल को बेहतर बनाना है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें