उन्नाव दलित युवती हत्या: कब्र से शव निकाल कर दोबारा हुआ पोस्टमार्टम, दोनों रिपोर्ट अलग, हंगामा

Swati Gautam, Last updated: Wed, 16th Feb 2022, 4:46 PM IST
  • उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दलित लड़की की हत्या के मामले में मां के द्वारा दोबारा पोस्टमार्टम कराने की मांग को मानते हुए शव को कब्र से निकाला गया और पोस्टमार्टम कराया गया. 11 फरवरी को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट और मंगलवार को आई पीएम रिपोर्ट अलग-अलग हैं. जिसके बाद मृतका की मां और परिजनों में अक्रोश है.
उन्नाव दलित युवती हत्या (file photo)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दलित लड़की की हत्या के मामले में नया मोड़ सामने आया है. मृतका की मां के द्वारा दोबारा पोस्टमार्टम कराने की मांग को मानते हुए शव को कब्र से निकाला गया और लखनऊ से आई फोरेंसिक की टीम से पोस्टमार्टम कराया गया. FSL एक्सपर्ट डॉ जी खान के मुताबिक, 11 फरवरी को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट और मंगलवार को आई पीएम रिपोर्ट अलग-अलग हैं. रिपोर्ट आते ही वहां बवाल खड़ा हो गया. मृतका के परिजनों की मांग है कि डेड बॉडी के परीक्षण के बाद ही पोस्टमार्टम हाउस से शव जाने देंगे. पोस्टमार्टम हाउस के बाहर परिजन रात भर बैठे रहे. प्रशासनिक अमला उन्हें समझाने का प्रयास किया लेकिन परिजन अपनी मांग पर अड़े रहे.

जानकारी अनुसार पहली रिपोर्ट में गले की हड्डी टूटने का जिक्र है जबकि दूसरी रिपोर्ट में गले में चोट का निशान और दम घुटने से मौत होने की पुष्टि हुई है. अधिवक्ता अवनी बंसल ने अब मेडिकल एक्सपर्ट बोर्ड का गठन करने और उसके माध्यम से पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भिन्नता की वजह स्पष्ट करने की मांग की है. उन्होंने स्थिति स्पष्ट न होने तक शव न उठने देने की बात कही है. बता दें कि 10 फरवरी को गायब हुई दलित युवती का शव पूर्व मंत्री के खाली प्लॉट ने दबा मिला था. 11 फरवरी को शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद जाजमऊ के चंदन घाट पर दफना दिया गया था. जिसके बाद मां की मांग पर मंगलवार को दफनाए गए शव को निकालकर दोबारा पोस्टमार्टम कराया गया.

लखनऊ में बड़ा खेला, अस्पताल लाइसेंस के लिए मजदूरों को फर्जी मरीज बना सूई लगा दी

क्या है मामला

गौरतलब है कि बीती 10 फरवरी को करीब दो माह से अधिक समय से लापता दलित युवती का सपा सरकार मंत्री रहे फतेह बहादुर सिंह के आश्रम के बगल खाली पड़े प्लाट में सात फीट नीचे दबा मिला था. उसकी अपहरण के बाद हत्या का आरोप भी पूर्व मंत्री के बेटे रजोल सिंह पर लगा था. पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर जाजमऊ के चंदन घाट पर दफन कराया था. इस मामले के तूल पकड़ने के बाद मुख्य आरोपी सपा नेता का बेटा रजोल सिंह व उसके साथी सूरज सिंह को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें