10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में कटेंगे सिर्फ ई-चालान, लखनऊ, मेरठ सहित यूपी के 13 शहरों के नाम

Haimendra Singh, Last updated: Mon, 13th Sep 2021, 6:50 AM IST
  • यूपी के 10 लाख से ज्यादा जनसख्या वाले शहरों में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वालों का सिर्फ ऑनलाइन चालान काटा जाएगा. इसमें यूपी के 13 शहर लखनऊ, कानपुर, मेरठ, झांसी, फिरोजाबाद, गजरौला, गाजियाबाद, नोएडा, खुरजा, मुरादाबाद, रायबरेली, वाराणसी और गोरखपुर के नाम शामिल है. 
यूपी के लखनऊ, मेरठ सहित 13 शहरों में सिर्फ ऑनलाइन चालान कटेगा.( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ. केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश में बढ़ते सड़क हादसे और ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वालों से निपटने के लिए नई योजना बनाई है. मंत्रालय ने दस लाख से अधिक आवादी वाले शहरों में वाहनों की बढ़ती सख्या और ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों का ऑनलाइन चालान काटने का फैसला किया गया है. इसमें यूपी के 13 शहरों को शामिल किया गया हैं. उम्मीद जताई जा रही है कि मंत्रालय के इस पहल से लोगों में ट्रैफिक नियमों का सही से पालन करेंगे. इससे लोगों को हमेशा यह डर रहेगा कि यदि वह यातायात नियमों का पालन नहीं करते है तो उनका चालान भी कट सकता है.

मंत्रालय द्वारा परिवहन व यातायात विभाग को भेजे गए दिशा-निर्देश कहा गया है. कि अब यूपी के 13 शहरों में सिर्फ ऑनलाइन चालान ही कटेगे. जिसमें राजधानी लखनऊ सहित कानपुर, झांसी, फिरोजाबाद, गजरौला, गाजियाबाद, नोएडा, खुरजा, मुरादाबाद, रायबरेली, वाराणसी, गोरखपुर और मेरठ का नाम को शामिल किया गया है. इस तरीके से ट्रैफिक पुलिस को यातायात के नियमों को तोड़ने वालो से सख्ती से निपट सकेगी.

रामभक्तों पर गोली चलाने वाले ना तो मंदिर बना पाते, न 370 हटाते: CM योगी

लखनऊ ट्रैफिक पुलिस के डीसीपी रईस अख्तर ने कहा है, कि आईटीएमएस परियोजना के तहत शहरों को सभी चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे है. शहरों के ट्रैफिक पर कंट्रोल रूम से निगरानी भी रखी जा रही है. कैमरों की मदद से कंट्रोल रूम से ट्रैफिक पुलिस को शहर की स्थिति पर नजर रखने में मदद मिलेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें