शिक्षक भर्ती मामला: अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज, अखिलेश यादव ने BJP सरकार को घेरा

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Jun 2021, 10:48 PM IST
  • उत्तर प्रदेश 69000 शिक्षक भर्ती में शामिल अभ्यर्थियों ने लखनऊ के कालिदास मार्ग पर स्थिति उप मुख्यमंत्री के आवास के बाहर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन को खत्म करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया. इसी को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है.
UP में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही राज्य में रोजगार का मुद्दा गरमा गया है

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही राज्य में रोजगार का मुद्दा गरमा गए हैं. दरअसल 69000 शिक्षक भर्ती में शामिल अभ्यर्थियों ने लखनऊ के पांच कालिदास मार्ग स्थिति उप मुख्यमंत्री के आवास का घेराव किया. अचनाक शुरू हुए प्रदर्शन को खत्म करने के लिए पुलिस लाठीचार्ज का प्रयोग किया. अभ्यर्थियों पर की गई पुलिस की इसी कार्रवाई को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने राज्य की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है.

सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश में उप मुख्यमंत्री के आवास के बाहर 69000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई अति निंदनीय है. जीवन के सबक याद करानेवाले शिक्षक भाजपा सरकार द्वारा किए गए इस उत्पीड़न को कभी नहीं भूलेंगे. क्या यही है विश्व गुरू बनने की राह.

मुकुल गोयल के हाथों में अब यूपी पुलिस की कमान, बने उत्तर प्रदेश के नए DGP

बता दें कि उपमुख्यमंत्री के आवास का घेराव करने वाले आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों का कहना है कि 69 हजार पदों की भर्ती में ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को नियमानुसार 27 फीसदी आरक्षण का लाभ नहीं दिया गया है. अभ्यर्थियों का कहना उन्हें 4 फीसदी से भी कम आरक्षण का लाभ मिला है. इसके साथ ही अभ्यर्थियों ने एससी वर्ग को भी 21 फीसदी आरक्षण नहीं मिलने का आरोप लगाया है.

ओवैसी की AIMIM बोली- लिखकर दें अखिलेश यादव, यूपी में बनाएंगे मुस्लिम डिप्टी CM

पुलिस की तरफ से किए गए लाठीचार्ज में कई छात्रों के घायल होने की खबर है. साथ ही पुलिस ने कई छात्रों को हिरासत में भी ले लिया है. प्रदर्शन में शामिल छात्रों का कहना है कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने 29 अप्रैल को सरकार को अंतरिम रिपोर्ट भेजी थी. लेकिन डेढ़ महीने के बाद भी सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया. अभ्यर्थियों के मुताबिक आयोग ने माना है कि भर्ती में 5844 सीटों पर गड़बड़ी हुई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें