यूपी इलेक्शन की घंटी बजने वाली है, चुनाव आयोग ने CEO, DM संग तैयारी समीक्षा की

Somya Sri, Last updated: Fri, 3rd Dec 2021, 10:50 AM IST
  • भारत निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मतदाता पुनरीक्षण के कार्यों की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने कहा कि मतदाता रजिस्ट्रेशन फॉर्म में छोटी गलतियां करने पर अब निरस्त नहीं किए जाएंगे. साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारी अपने जिलों के पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक करें और सभी पोलिंग स्टेशनों का निरीक्षण करें.
चुनाव आयोग (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश चुनाव में अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है. जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं, सभी राजनीतिक दल अपनी चुनाव की रणनीति तैयार करने में जुटे हुए हैं. इसी कड़ी में चुनाव आयोग भी आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों में जुट गया है. गुरुवार को उप निर्वाचन आयुक्त चंद्र भूषण कुमार और मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की. बैठक में विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 की तैयारियों और विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान की समीक्षा की गई. इस दौरान उन्होंने कहा कि मतदाता रजिस्ट्रेशन फॉर्म में छोटी गलतियां करने पर अब निरस्त नहीं किए जाएंगे.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उप निर्वाचन आयुक्त चंद्र भूषण कुमार ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे निर्वाचन के कार्यों की पूरी रूपरेखा तैयार कर ले. बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि वोटर्स के रजिस्ट्रेशन फॉर्म की जांच गंभीरता से करें इस दौरान अगर छोटी-छोटी गलतियां पाई जाती हैं तो फॉर्म को निरस्त नहीं किया जाए. बता दें कि इससे पहले चुनावों में मतदाता के रजिस्ट्रेशन फॉर्म में छोटी-छोटी गलतियों को लेकर उनके फॉर्म को निरस्त कर दिया जाता था जिससे वे चुनाव से बाहर हो जाते थे.

AAP के सोशल मीडिया हेड रहे अंकित लाल UP में RLD तो उत्तराखंड में कांग्रेस के साथ

वहीं उप निर्वाचन आयुक्त ने निर्देश दिया कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारी अपने जिलों के पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक करें और सभी पोलिंग स्टेशनों का निरीक्षण करें. उन्होंने कहा कि जिलों में निर्वाचन के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है उसका निरीक्षण भी करें. उप निर्वाचन आयुक्त अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिया कि चुनाव के दौरान ड्यूटी पर रहने वाले कर्मियों को ईवीएम और वीवीपैट की ट्रेनिंग समय पर दी जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें