UP चुनाव 2022 में पीएम मोदी के साथ ब्रांड योगी के नाम पर भी होगा मतदान, BJP की तैयारी पूरी

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 12th Sep 2021, 8:49 AM IST
  • यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सत्ताधारी पार्टी बीजेपी ने लगभग पूरी तैयारी कर ली है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बूथ विजय अभियान की शुरुआत की और साफ संदेश दिया कि इस चुनाव में बीजेपी के लिए वोट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के साथ-साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम पर भी डलेगा.
UP चुनाव 2022 में सीएम योगी के नाम पर होगा मतदान

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी ने प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए महीनों पहले से ही तैयारी शुरू कर दी है और पार्टी की लगभग पूरी तैयारी हो गई है. इस चुनाव के लिए बीजेपी ने साल 2017 में मिली जीत से भी बड़ी जीत रखने का लक्ष्य रखा है. वहीं यूपी विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बूथ विजय अभियान की शुरुआत की. इस अभियान की शुरुआत करते ही बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने साफ संदेश दिया है कि इस चुनाव में मतदान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम पर भी होगा. क्योंकि यूपी में सीएम योगी एक ब्रांड के तौर पर हैं और सीएम योगी भी प्रदेश की जनता की काफी पसंद हैं. यही कारण है कि सीएम योगी के नाम पर ही बीजेपी को यूपी विधानसभा चुनाव में वोट मिलेगा.

यूपी में सीएम योगी एक ब्रांड नेता हैं और बीजेपी पार्टी में सीएम योगी का अलग ही रुतबा है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जोड़ी ने जनता के सहयोग से प्रदेश का कायाकल्प कर कीर्तिमान स्थापित किया है. उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सर्वाधिक लोकप्रिय नेता हैं और उत्तर प्रदेश में उनके मुकाबले में दूर-दूर तक कोई नहीं है.

यूपी के इन लोगों को फ्री में टैबलेट बांटेगी योगी आदित्यनाथ सरकार, ऐसे होगा रजिस्ट्रेशन

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में यूपी में पीएम मोदी के नाम जनता ने बीजेपी को भरपूर आशीर्वाद दिया था. अब पीएम मोदी के नाम के साथ सीएम योगी का नाम भी जुड़ गया है. अब देखना ये है कि बीजेपी यूपी में फिर से प्रचंड जीत हासिल करती है या नहीं. क्योंकि पीएम मोदी के नेतृत्व में साल 2017 में भाजपा ने 325 सीटें जीतकर इतिहास रचा था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें