SP नेताओं पर IT रेडः अखिलेश यादव ने कहा- BJP को सता रहा हार का डर, अब CBI, ED भी आएंगे

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 18th Dec 2021, 1:47 PM IST
  • सपा नेताओं के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर सपा प्रमुख ने प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा सरकार पर हमला बोला. अखिलेश यादव ने कहा कि चुनाव आते ही बीजेपी ने केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग शुरू कर दिया. भाजपा को हार का डर सता रहा है अभी सीबीआई, ईडी भी आएंगे.
SP नेताओं पर IT रेडः अखिलेश यादव ने कहा- BJP को सता रहा हार का डर, अब CBI, ED भी आएंगे

लखनऊ. प्रदेश में आज एक साथ कई सपा नेताओं के घर आयकर विभाग की छापेमारी हुई. इसमें अखिलेश के करीबी राजीव राय और अखिलेश यादव के पर्सनल सेक्रेटरी जैनेंद्र यादव भी शामिल हैं. आयकर विभाग ने लखनऊ, मैनपुरी समेत कई इलाकों पर छापेमारी की. इस कार्रवाई पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया.

भाजपा हार के डर से बौखला गई

अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अभी सीबीआई, ईडी भी आएंगे. भाजपा को चुनाव में हार का डर सता रहा है. इसलिए ये कार्रवाई हो रही है. यह कार्रवाई साबित करती है कि भाजपा हार के डर से बौखला गई है.

IT रेड पर SP नेता राजीव राय बोले- मैं लोगों की मदद करता हूं ये सरकार को नहीं आया पसंद

चुनाव आते हैं तो क्यों तभी होती छापेमारी

अखिलेश ने भाजपा सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि सिर्फ चुनाव आने पर ही ये कार्रवाई क्यों शुरू होती है. इसस साफ है भाजपा हार के डर से इस तरह की कार्रवाई कर रही है. हालांकि माना जा रहा है कि अखिलेश अब यूपी चुनाव में इस रेड को अपने चुनाव प्रचार में उपयोग कर सरकार पर हमलावर दिख सकते हैं.

अब दोगुनी रफ्तार से मऊ के लोगों के लिए करेंगे काम

सपा के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय ने रेड के दौरान कहा कि ये लोग खुद नहीं बल्कि सरकार के कहने पर कर रहे हैं. अब वो इस कार्रवाई के बाद दोगुनी रफ्तार से मऊ के लोगों के विकास के लिए काम करेंगे.

UP में सपा नेता राजीव राय, जैनेंद्र यादव और मनोज यादव के घर इनकम टैक्स का छापा

बता दें कि शुक्रवार सुबह आयकर विबाग ने सपा के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय , अखिलेश यादव के पीएम जैनेंद्र यादव और आरसीएल के चेयरमैन मनोज यादव के ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की है और अभी तक कार्रवाई जारी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें