यूपी चुनाव में JDU को BJP से मिला 14 सीट का ऑफर, नीतीश को प्रचार का न्योता: सूत्र

Swati Gautam, Last updated: Tue, 18th Jan 2022, 11:03 PM IST
  • सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए भाजपा ने जनता दल (यूनाइटेड) को 14 सीटों पर गठबंधन कर चुनाव लड़ने का ऑफर दिया है. इतना ही नहीं, भाजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार करने का आग्रह भी किया है. बुधवार को दिल्ली में जेडीयू की अहम बैठक भी होगी.
CM nitish kumar (File photo)

पटना. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों के लिए मतदान शुरू होने में कुछ ही हफ्ते बचे हैं. चुनावी बुखार जोरों पर है. सभी राजनीतिक पार्टियां गठबंधन और अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर रही हैं. ऐसे में कई दिलचस्प समीकरण निकलकर आ रहे हैं. इसी कड़ी में सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर आ रही है कि भाजपा ने जनता दल (यूनाइटेड) को 14 सीटों पर गठबंधन कर चुनाव लड़ने का ऑफर दिया है. इतना ही नहीं, भाजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार करने का आग्रह भी किया है. कहा जा रहा है कि बुधवार को दिल्ली में जेडीयू की अहम बैठक भी होगी जिसमें सीटों को लेकर कई बड़े फैसले लिए जायेंगे.

बता दें कि उत्तर प्रदेश चुनाव लड़ने के लिए जदयू ने 51 सीटें चिह्नित की हैं. इनमें कितनी सीटों पर वह लड़ेगा, इस पर फैसला होना बाकी है. सूत्रों के मुताबिक जदयू की ओर से आरसीपी सिंह मध्यस्थता कर रहे हैं. जदयू के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने मंगलवार को बताया कि पार्टी की यूपी इकाई ने जिन सीटों के नाम तय किये हैं, उस पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने दिल्ली में बैठक बुलाई है. यह बैठक काफी अहम होने वाली है जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष के अलावा केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह, केसी त्यागी और उत्तर प्रदेश के जदयू अध्यक्ष अनूप पटेल शामिल भी होंगे. इस बैठक में यह निर्णय लिया जाएगा कि कितनी और कौन सी सीटों पर जेडीयू चुनावी मैदान में उतरेगा.

अखिलेश से 14 मंत्री-विधायकों का BJP लेगी बदला, मुलायम की बहू अपर्णा भाजपा जा रही हैं

जदयू के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी मीडिया से बातचीत करते हुए यूपी चुनाव में जेडीयू के कुछ खास मुद्दे भी बताए. केसी त्यागी ने यूपी चुनावों के कुछ मुख्य मुद्दों में सबसे पहला बताया कि न्यूनतम समर्थन मूल्य को जल्द कानूनी मान्यता मिले. जिसमें यूपी के किसानों पर मुकदमे वापस लिए जाएं. केसी त्यागी ने दूसरा मुद्दा यूपी में जातीय जनगणना करवाना बताया. उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि आज जाने कितने मंत्री मंत्रिमंडल का आरोप लगाते हुए मंत्रिमंडल को छोड़ कर जा रहे हैं. केसी त्यागी ने तीसरा मुद्दा बताते हुए कहा कि बिहार मॉडल ऑफ गवर्नेंस की व्यवस्था यूपी में भी स्थापित हो.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें