केजरीवाल मॉडल पर योगी से लड़ेंगे अखिलेश, सपा घोषणापत्र में UP को फ्री ये सर्विस

Smart News Team, Last updated: Fri, 9th Jul 2021, 8:42 PM IST
यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी पार्टी संभवित घोषणा पत्र में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आप पार्टी के घोषणा पत्र की छाप दिख सकती है. साथ ही अखिलेश यादव दिल्ली के फ्री मॉडल और रोजगार जैसे मुद्दों को अपना चुनावी हथियार बना सकते हैं. 
केजरीवाल के इस फ्री मॉडल से यूपी की जनता को रिझाने की तैयारी में अखिलेश यादव

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में सीएम योगी आदित्यनाथ को सत्ता से हटाने के लिए अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की चुनावी घोषणाओं की छाप दिख सकती है, जिसमें फ्री बिजली और बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार प्रमुख चुनावी वादा भी हो सकता है. दरअसल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब कम समय ही बाकी और सभी राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. ऐसे में सपा पार्टी सत्ताधारी भाजपा को हटाने के लिए हर तरह से लुभावने वादे करने से पीछे नहीं रहेगी. सूत्रों की मानें तो सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस सबकी तैयारी भी कर ली है.

जानकारी के अनुसार, समाजवादी पार्टी की ओर से संकेत मिलने लगे हैं कि इस बार यूपी में चुनाव सपा रोजगार और दिल्ली के फ्री मॉडल को दिखाकर लड़ने की तैयारी में है. जहां प्रदेश में 10 लाख युवाओं को रोजगार का मुद्दा बिहार में तेजस्वी की आरजेडी जैसा हो सकता है तो वहीं केजरीवाल मॉडल की तरह अखिलेश हर महीने गरीब परिवारों को 300 यूनिट बिजली फ्री देने का भारी भरकम वादा भी कर सकते हैं. हालांकि, इस संबंध में अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है. 

UP पंचायत चुनाव में हुई धांधली के विरोध में सपा 11 जुलाई को करेगी प्रदेश भर में प्रदर्शन

संजय सिंह से अखिलेश की मुलाकात के बाद शुरू हुए थे कयास

हाल ही में सपा प्रमुख अखिलेश यादव की आम आदमी पार्टी से सांसद संजय सिंह से मुलाकात के बाद कयासों का दौर शुरू हो गया था. कहा तो ये भी जा रहा था कि अखिलेश यादव और अरविंद केजरीवाल आगामी यूपी चुनाव के लिए हाथ मिला सकते हैं. हालांकि, आप सांसद और यूपी के प्रभारी संजय सिंह ने इसे शिष्टाचारी भेंट करार दी थी. 

बता दें कि आने वाले विधानसभा चुनावों में सपा पार्टी अपने नए नारे के साथ मैदान में उतरेगी जिसमें बीजेपी को घेरे में लिया जाएगा. उनका नया नारा है, ‘नई हवा है नई सपा है बड़ों का हाथ, युवा का है साथ. काम ही बोलेगा-2022 में बीजेपी की पोल खोलेगा.' सूत्रों की मानें तो सपा पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र के लिए मुद्दों और वादों की पहचान शुरू कर दी है. जिसमें आम आदमी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल ही नहीं ममता बनर्जी के उस घोषणा पत्र को भी खंगाला जाएगा जिसमें बीजेपी के लाखों प्रयासों के बाद भी उन्होंने जीत हासिल की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें