UP ATS की छापेमारी में अंतराराष्ट्रीय मानव तस्करी गिरोह के मुख्य सरगना समेत 9 गिरफ्तार

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Tue, 14th Dec 2021, 8:51 AM IST
  • उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (UP ATS) ने एक अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए उसके सरगना समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए 8 आरोपी बांग्लादेश मूल के हैं जो फर्जी नागरिकता का प्रमाण बनवाकर विदेश जाने की तैयारी में थे. सरगना को लखनऊ व बाकी को कानपुर से पकड़ा गया है.
प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ/कानपुर. उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (UP ATS) ने अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी गिरोह का भंडाफोड़ किया है.  ATS ने अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी गिरोह के मुख्य सरगना मुहफुजुर रहमान समेत 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इस गिरोह का संबंध बांग्लादेश और म्यांमार से है. भारतीय सीमा में अवैध तरीके से प्रवेश कराकर विदेशों में तस्करी करने के मामले में इन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. करीब 2 महिने पहले भी यूपी एटीएस के लखनऊ थाने में अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के संबंध में FIR दर्ज कर 9 अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया था. अब इस गिरफ्तारी के साथ इम मामले में कुल 18 म्यांमार और बंग्लादेशी लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. एटीएस ने कोलकाता से दिल्ली जा रही ट्रेन में छापेमारी कर इन आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

9 आरोपियों में से अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी गिरोह के मुख्य सरगना मुहफुजुर रहमान को रविवार को एटीएस ने कोलकाता से गिरफ्तार किया गया था. बाकी 8 आरोपियों को कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन से छापा मारकर गिरफ्तार किया गया था. आरोपी भारतीय नाम व पते से फर्जी पासपोर्ट बनवाकर विदेश जाने की तैयारी में थे. ये आठों मूल रूप से बांग्लादेश के रहने वाले हैं.

Video: स्कूल में पढ़ रहे थे बच्चे, अचानक आ गया खूंखार तेंदुआ, फिर जो हुआ...

इस पर लखनऊ स्थित पुलिस मुख्यालय में आईजी एटीएस डॉक्टर जीके गोस्वामी ने बताया है कि कि कुछ भारतीय व बांग्लादेशी लोग एक सिंडिकेट बनाकर बांग्लादेश व म्यांमार के नागरिकों को भारत में अवैध रूप से प्रवेश कराते हैं. बाद में उनकी पहचान बदलकर उन्हें भारतीय नागरिक के रूप में स्थापित करने के लिए उनका फर्जी आधार कार्ड, निर्वाचन कार्ड व पासपोर्ट आदि जैसे बुनियादी दस्तावेज बनवाए जाते हैं.

नए साल पर रेलवे का तोहफा, इन ट्रेनों में नहीं कराना पड़ेगा रिजर्वेशन, जनरल टिकट पर होगा सफर

अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी गिरोह के मुख्य सरगना मुहफुजुर रहमान को छोड़कर बाकी 8 आरोपीयों असीदुल इस्लाम, हुसैन मोहम्मद फहद, अलअमीन अहमद, जैबुल इस्लाम, जमील अहमद, राजिब हुसैन, शखावत खान और अलाउद्दीन तारीक के पास से भारतीय पहचान के दस्तावेज बरामद किए गए हैं. इन आठों आरोपियों ने पश्चिम बंगाल राज्य के अलग-अलग जिलों के पत्ते से इन नामों विजय दास, मानिक दत्ता, राजेश विश्वास, गोविंदा दास, पलाश विश्वास, अजीत दास, गोलक मंडल और रिंकू विश्वास से भारतीय पहचान के दस्तावेज बनवा रखे हैं.  बता दें कि 10 अक्टूबर 2021 को मानव तस्करी के संबंध में एटीएस के लखनऊ थाने में दर्ज मुकदमे में 9 आरोपियों को पहले से ही गिरफ्तार किया जा चुका है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें