अयोध्या मस्जिद बनाने से पहले 14 विभागों की NOC जरूरी, 26 जनवरी से होगा काम शुरू

Smart News Team, Last updated: Wed, 20th Jan 2021, 9:10 PM IST
  • मुस्लिम समुदाय बेहद सादगी भरे कार्यक्रम में 26 जनवरी को मस्जिद की नींव रखने जा रहा है. इसी क्रम में इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने धन्नीपुर गांव में 5 एकड़ भूमि पर मस्जिद निर्माण की तैयारी तेज कर दी है. 
अयोध्या मस्जिद बनाने से पहले 14 विभागों की NOC जरूरी, 26 जनवरी से होगा काम शुरू

लखनऊ: राम जन्मभूमि मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या के धन्नीपुर में मुस्लिम समुदाय को 5 एकड़ जमीन मस्जिद बनाने के लिए मिली थी. उस जमीन पर मुस्लिम समुदाय मस्जिद का निर्माण कार्य शुरू करने जा रहा है. मुस्लिम समुदाय बेहद सादगी भरे कार्यक्रम में 26 जनवरी को मस्जिद की नींव रखने जा रहा है. इसी क्रम में इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने धन्नीपुर गांव में 5 एकड़ भूमि पर मस्जिद निर्माण की तैयारी तेज कर दी है. ट्रस्ट को विकास प्राधिकरण से मस्जिद समेत पूरे परिसर में होने वाले अन्य निर्माण कार्यों का नक्शा पास कराना होगा.

मस्जिद के साथ हॉस्पिटल और लाइब्रेरी का बनाने का है प्रस्ताव

बताते चलें कि इस क्रम में शासन से अनुमति लेकर जिला प्रशासन ने सोहावल तहसील के धन्नीपुर गांव में रौनाही थाने के पास हाईवे से सटी कृषि विभाग के जमीन में से 5 एकड़ जमीन इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट के नाम ट्रांसफर कर दी थी. ट्रस्ट की ओर से इस जमीन पर एक भव्य मस्जिद के साथ एक हॉस्पिटल और एक लाइब्रेरी का निर्माण प्रस्तावित है.

किसानों की आय बढ़ाएगी योगी सरकार, पूर्णरूप से आत्मनिर्भर बनेंगे किसान

गणतंत्र दिवस पर रखी जायेगी अयोध्या में मस्जिद की नींव

इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के सचिव और प्रवक्ता अतहर हुसैन ने बताया कि नक्शा पास कराने की तैयारी पूरी कर ली गई है. उन्होंने कहा कि नक्शा पास कराने का आवेदन जिला पंचायत के नियमों के अनुसार तैयार किया गया है. इसकी डिजाइन तैयार करने वाले मुख्य वास्तुकार प्रोफेसर एसएम अख्तर 24 जनवरी को लखनऊ आएंगे. इसी दिन एक टीम अयोध्या के धन्नीपुर जाकर मिट्टी का परीक्षण करेगी. उसके बाद 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन ट्रस्ट के अध्यक्ष समेत सभी 9 सदस्य धनीपुर जाएंगे और मस्जिद की नींव रखेंगे.

CM योगी ने लगाया GeM फॉर्मूला तो सरकारी विभागों की खरीदारी में रुक गया भ्रष्टाचार

उन्होंने बताया कि इसके साथ ही वहां झंडारोहण होगा व पौधारोपण का भी कार्यक्रम रखा गया है. इस कार्यक्रम के कुछ दिनों के बाद ही जिला पंचायत फैजाबाद अयोध्या जाकर एक टीम नक्शा पास करने के लिए दस्तावेज दाखिल करेगी. अयोध्या विकास प्राधिकरण के अधिकारी भी बतातें हैं कि सोहावल तहसील का धन्नीपुर गांव, जहां शासन से मस्जिद निर्माण के लिए 5 एकड़ भूमि दी गई है, वह विकास प्राधिकरण के क्षेत्र में है. ऐसे में नक्शा विकास प्राधिकरण में ही प्रस्तुत करना होगा और यहीं से स्वीकृति मिलेगी.

उत्तर प्रदेश में 6 पुलिस उपाधीक्षकों का हुआ तबादला, एडिशनल DGP ने जारी किए आदेश

14 प्रकार की एनओसी चाहिए

आपको बता दें कि मस्जिद निर्माण के लिए कुल 14 प्रकार की एनओसी (NOC) के साथ सरकार का अनुमति पत्र भी देना होगा. प्राधिकरण की नियमावली के हिसाब से मस्जिद का प्लान या लेआउट नक्शा, पर्यावरण, फायर, एएसआई, वन विभाग, एयरपोर्ट अथॉरिटी, राजस्व, जिला पंचायत जैसे 14 विभागों की एनओसी और विकास शुल्क जमा कराना होगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें