UP बोर्ड रिजल्ट सभी के सुझाव लेकर होगा तय, आप भी ऐसे दे सकते हैं राय

Smart News Team, Last updated: Sun, 6th Jun 2021, 8:57 AM IST
  • यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं रद्द होने के बाद रिजल्ट के लेकर मंथन शुरू हो गया है. अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने अंक निर्धारण के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में फैसला लिया गया है कि अंक निर्धारण के तरीके खोजने में छात्रों और अभिभावकों से भी मदद ली जाएगी.
यूपी बोर्ड में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के रिजल्ट के लिए आप भी दे सकते है अपनी राय.( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ. उत्तर प्रदेश बोर्ड की परीक्षा रद्द होने के बाद हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों के रिजल्ट की तैयारियां शुरू हो गई है. अब यूपी बोर्ड में छात्राओ के अंक निर्धारण के लिए सभी पक्षों से सुझाव लेने की तैयारी शुरू हो गई है. शनिवार को शिक्षा निदेशालय के शिविर कार्यलय में अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला की अध्यक्षता में हुई बैठक फैसला लिया गया कि अब प्रधानाचार्य, अभिभावक, विभिन्न शिक्षक संघों के प्रतिनिधि तथा आम लोगों से भी सुझाव लिए जाएंगे. बता दें कि कोरोना महामारी से उत्पन्न असाधारण परिस्थितियों के कारण सरकार ने वर्ष 2021 की यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा निरस्त करने का फैसला लिया है.

अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने  कहा, सोमवार को सभी जिलों के शिक्षाधिकारियों से छात्रों के अंक निर्धारण के संबंध में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा करेंगी. इस वार्तालाप में राजकीय विद्यालयों, अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालयों व वित्त विहीन माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्य, अभिभावक, विभिन्न शिक्षक संघों के प्रतिनिधि शामिल होंगे. इसके अलावा छात्रों एवं अभिभावकों के अंक निर्धारण के सुझाव लिए जा रहा है. सुझाव देने के 7 जून तक की समय-सीमा तय की गई है. छात्र और अभिभावक अपने सुझाव मेल आईडी- upboardexamination2021@gmail.com पर भेज सकते हैं.

यूपी में भाजपा ने पर्यावरण को सबसे बड़ा नुकसान पहुंचाया है: अखिलेश यादव

शिविर कार्यालय में हुई बैठक में माध्यमिक शिक्षा विभाग के विशेष सचिव उदयभानु त्रिपाठी व जय शंकर दूबे, निदेशक माध्यमिक शिक्षा विनय कुमार पांडेय व माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ला सहित शासन एवं विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे. साथ ही विभिन्न विद्यालयों के प्रधानाचार्य एवं विषय विशेषज्ञ शिक्षक भी मौजूद रहे. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें