UP Board Result 2021: यूपी बोर्ड रिजल्ट का आज हो सकता है ऐलान, यहां करें चेक

Smart News Team, Last updated: Sun, 18th Jul 2021, 3:58 PM IST
  • यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के लगभग 56 लाख स्‍टूडेंट्स को अपने रिजल्ट का इंतजार है. ज्यादा संभावना है कि बोर्ड 10वीं के रिजल्‍ट पहले जारी कर दे और फिर उसके बाद 12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित करे.
यूपी बोर्ड रिजल्ट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ: अब आज यानी रविवार को यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के छात्रों का इंतजार खत्म हो जायेगा क्योंकि रविवार को यूपी बोर्ड के परीक्षा परिणाम की घोषणा होने सकती है. रविवार को ही प्रदेश के शिक्षामंत्री दिनेश शर्मा रिजल्‍ट डेट का ऐलान कर सकते हैं. यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के लगभग 56 लाख स्‍टूडेंट्स को अपने रिजल्ट का इंतजार है. ज्यादा संभावना है कि बोर्ड 10वीं के रिजल्‍ट पहले जारी कर दे और फिर उसके बाद 12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित करे.

रविवार को ही बोर्ड परीक्षा परिणाम आने की संभावना इसलिए बढ़ गई है क्योंकी बोर्ड ने 10वीं के स्‍टूडेंट्स के लिए अपने रोल नंबर डाउनलोड करने का लिंक एक्टिव कर दिया है लेकिन 12वीं के छात्रों के रोल नंबर अभी जारी नहीं किए गए हैं. संभव है कि बोर्ड 10वीं का रिजल्‍ट पहले जारी करे और 12वीं के एग्‍जाम रिजल्‍ट बाद में जारी करे.

मिशन 2022 : संघ-भाजपा की आज से दो दिवसीय समन्वय बैठक, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

रिजल्‍ट चेक करने के स्‍टेप्‍स

स्‍टेप 1: सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट upmsp.up.nic.in पर जाएं.

स्‍टेप 2: यहां यूपी बोर्ड 10वीं अथवा 12वीं के रिजल्‍ट लिंक पर क्लिक करें.

स्‍टेप 3: अपना रोल नंबर दर्ज कर सब्मिट करें.

स्‍टेप 4: रिजल्‍ट स्‍क्रीन पर दिखाई देगा, इसे डाउनलोड कर लें.

स्‍टेप 5: रिजल्‍ट की एक कॉपी अपने पास सेव कर लें.

नहीं हुई थी परीक्षा

इस वर्ष कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी थीं. अधिकांश बोर्ड अपनी परीक्षाएं रद्द कर चुके हैं और रिजल्‍ट पिछले र‍िकॉर्ड के आधार पर तैयार किया जा रहा है. इसी कारण इस वर्ष रिजल्‍ट में काफी बदलाव भी हैं. रिजल्‍ट के साथ मेरिट और टॉपर्स जारी नहीं किए जाएंगे.

यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का लक्ष्य बीजेपी को हराना- प्रियंका गांधी

इस बार कोई नहीं होगा बोर्ड टॉपर्स

इस वर्ष परीक्षाएं आयोजित नहीं की गई हैं इसलिए रिजल्‍ट के साथ मेरिट लिस्‍ट जारी नहीं की जाएगी. इस वर्ष कोई बोर्ड टॉपर भी नहीं होंगे.

मिलेंगी ई-मार्कशीट

प्रदेश में 2020 में पहली बार यूपी बोर्ड ने छात्रों को ई-मार्कशीट जारी करने का फैसला किया था. शिक्षामंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि Covid-19 महामारी के कारण मार्कशीट को प्रिंट करना मुश्किल था, इसलिए छात्रों को ई-मार्कशीट जारी करने का फैसला किया गया था. बाद में, जब Covid-19 की स्थिति में सुधार हुआ, तब छात्रों को मार्कशीट की फिजिकल कॉपी बांटी गई थीं.

किस आधार पर होगा मूल्यांकन

इसबार बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई थीं, इसलिए छात्रों में बड़ी बेचैनी थी की मूल्यांकन कैसे होगा, बोर्ड से मिली जानकारी के अनुसार मूल्यांकन उनके पिछले प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा. इस साल, कक्षा 10 के लिए रिजल्‍ट 50-50 के फार्मूले के आधार पर तैयार किया गया है, जहां 50 प्रतिशत नंबर कक्षा 9वीं के फाइनल रिजल्‍ट के आधार पर दिए गए हैं और शेष 50 प्रतिशत 10वीं की प्री-बोर्ड परीक्षा के आधार पर दिए गए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें