यूपी बजट: विपक्ष हमलावर मायावाती ने अति-निराश तो अखिलेश ने सभी के साथ धोखा बताया

Smart News Team, Last updated: 22/02/2021 10:38 PM IST
  • सरकार ने जहां साढ़े पांच लाख करोड़ के अब तक के सबसे बड़े इस बजट पेश किया वहीं विपक्ष की ओर से इस पर काफी नकारात्‍मक प्रतिक्रियाएं आई हैं. बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बजट को सिरे से खारिज किया.
यूपी बजट, विपक्ष हमलावर मायावाती ने अति-निराश तो अखिलेश ने सभी के साथ धोखा बताया

लखनऊ: योगी सरकार ने 2021-22 और अपना आखिरी बजट सोमवार को यूपी विधानमंडल में पेश कर दिया. सरकार ने जहां साढ़े पांच लाख करोड़ के अब तक के सबसे बड़े इस बजट पेश किया वहीं विपक्ष की ओर से इस पर काफी नकारात्‍मक प्रतिक्रियाएं आई हैं. बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बजट को सिरे से खारिज किया.

BSP सुप्रीमो मायावती ने दो ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि "यूपी विधानसभा में आज पेश बीजेपी सरकार का बजट भी केन्द्र सरकार के बजट की तरह ही यहाँ प्रदेश में खासकर बेरोजगारी की क्रूरता दूर करने हेतु रोजगार आदि के मामले में अति-निराश करने वाला है. केन्द्र सरकार की तरह यूपी के बजट में भी वायदे व हसीन सपने जनता को दिखाने का प्रयास किया गया है. यूपी की लगभग 23 करोड़ जनता के विकास की लालसा की तृप्ति के मामले में यूपी सरकार का रिकार्ड केन्द्र व यूपी में एक ही पार्टी की सरकार होने के बावजूद भी वायदे के अनुसार संतोषजनक नहीं रहा. खासकर गरीबों, कमजोर वर्गों व किसानों की समस्याओं के मामले में भी यूपी का बजट अति-निराशाजनक" रहा.

Fit India Movement के लिए BJP नेता साइकिल चलाकर पहुंचे विधानसभा, देखें Video

CM योगी ने जापानी इंसेफेलाइटिस के विशेष टीकाकरण अभियान का किया शुभारंभ

वहीं प्रयागराज दौरे पर गए समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह बजट सभी वर्ग को धोखा देने के साथ ही बिजनेसमैन को बढ़ावा देने वाला है. यूपी विधानसभा में आज पेश बीजेपी सरकार का बजट भी केन्द्र सरकार के बजट की तरह ही यहाँ प्रदेश में खासकर बेरोजगारी की क्रूरता दूर करने हेतु रोजगार आदि के मामले में अति-निराश करने वाला है. केन्द्र सरकार की तरह यूपी के बजट में भी वायदे व हसीन सपने जनता को दिखाने का प्रयास किया गया है. यूपी की लगभग 23 करोड़ जनता के विकास की लालसा की तृप्ति के मामले में यूपी सरकार का रिकार्ड केन्द्र व यूपी में एक ही पार्टी की सरकार होने के बावजूद भी वायदे के अनुसार संतोषजनक नहीं रहा. खासकर गरीबों, कमजोर वर्गों व किसानों की समस्याओं के मामले में भी यूपी का बजट अति-निराशाजनक है. 

10 रुपए की RTI से ढूंढ निकाली 50 करोड़ से अधिक की पुश्तैनी संपत्ति

उन्‍होंने कहा कि बजट के जरिए सरकार ने एक बार फिर किसानों के साथ धोखा किया है. सरकार सिर्फ बिजनेसमैन को लाभ पहुंचा रही है. सरकार किसानों को फसल की एमएसपी नहीं दे पाई. किसानों के सामने आज भी संकट है. किसान परेशान हैं. देश में डीजल-पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं. समाजवादी पार्टी के मुखिया ने कहा कि प्रदेश में गंगा नदी तो साफ नहीं हुई बजट साफ हो गया. अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार में हर वर्ग परेशान है. भाजपा ने देश में हमेशा नफरत ही फैलाई है. बजट में झूठ बोला जा रहा है. 

सरकार ने किसानों, युवाओं के लिए कुछ नहीं किया. सरकार बस उद्योगपतियों और पूंजीपतियों के लिए ही यह काम कर रही है. प्रदेश सरकार का अंतिम बजट आज पूरा हो गया है. यह पांचवां बजट था. अब उनके पास करने को कुछ नहीं है. अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में सपा की सरकार बनने पर हर वर्ग के लिए कल्याणकारी योजनाएं शुरू की जाएंगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें