उत्तर प्रदेश गुंडा नियंत्रण संशोधन विधेयक 2021 पर यूपी कैबिनेट की मुहर

Smart News Team, Last updated: Mon, 15th Feb 2021, 6:28 PM IST
  • यूपी कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश गुंडा नियंत्रण संशोधन विधेयक 2021 को मंजूरी दी है. इसके तहत अब लखनऊ और गौतमबुद्धनगर में डीसीपी गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई कर सकेंगे.
डीसीपी कर सकेंगे गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई

लखनऊ: यूपी सरकार ने लखनऊ और गौतमबुद्धनगर पुलिस कमिश्नरेट के लिए एक बड़ा फैसला किया है. यूपी कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश गुंडा नियंत्रण संशोधन विधेयक 2021 को मंजूरी दी है. इसके तहत अब लखनऊ और गौतमबुद्धनगर में डीसीपी गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई कर सकेंगे. पहले ये अधिकार पुलिस कमिश्नर के पास था. डीसीपी को ये अधिकार देने के लिए विधेयक में संशोधन के लिए विधानमंडल की अनुमति ली जाएगी.

विधेयक में मानव तस्करी, मनी लॉन्ड्रिंग, गोहत्या, बंधुआ मजदूरी और पशु तस्करी पर कड़ाई से रोक लगाने का प्रावधान है. इसके अलावा जाली नोट, नकली दवाओं का व्यापार, अवैध हथियारों का निर्माण और व्यापार, अवैध खनन जैसे अपराधों पर गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई का प्रावधान रखा गया है.

यूपी में फ्री IAS, IPS कोचिंग का शुभारंभ, 16 फरवरी से शुरू होंगी क्लास

गुंडा एक्ट में पकड़े गए अपराधियों की आसानी से जमानत नहीं हो पाएगी. इसके अलावा अपराधियों की संपत्ति भी जब्त की जाएगी. नए प्रावधान के तहत पुलिस अपराधियों को 14 दिन के बजाय अधिकतम 60 दिन के लिए बंद कर सकती है.

UP में ग्राम पंचायत के लिए जारी नहीं हुआ आरक्षण लेकिन गणित बिठाने लगे उम्मीदवार

दरअसल पिछले एक साल में पुलिस और अपराधियों के बीच कई ऐसी वारदातें हुईं जिसमें खूनी संघर्ष हुआ. ऐसे में इन अपराधियों पर पकड़ बनाने के लिए गुंडा एक्ट के तहत ये फैसला काफी अहम माना जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें