CM योगी का मथुरा को तोहफा: मथुरा-गोकुल परिक्रमा मार्ग के साथ तीन वन परिक्रमा मार्ग का होगा निर्माण

Uttam Kumar, Last updated: Wed, 29th Dec 2021, 9:35 AM IST
  • सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद की चतुर्थ बैठक की अध्यक्षता की. जिसमें वर्ष 2021-22 के अंतर्गत 16 परियोजनाओं पर चर्चा की गई. योगी ने मथुरा में गोकुल परिक्रमा मार्ग के साथ तीन वन परिक्रमा मार्ग को विकसित करने का निर्देश दिया. साथ ही तीर्थ स्थल पर चल रहे सभी निर्माण कार्य को तय समय पर पूरा करने के आदेश दिए.
सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मथुरा में गोकुल परिक्रमा मार्ग के साथ तीन वन परिक्रमा मार्ग को विकसित करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया. इस योजना के तहत गोवर्धन में पर्यटक जन सुविधा केंद्र (टीएफसी) का निर्माण, राधाकुंड में पर्यटक जन सुविधा केंद्र (टीएफसी) का निर्माण और बल्देव में पर्यटक जन सुविधा केंद्र (टीएफसी) का निर्माण किया जाएगा. दरअसल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद की चतुर्थ बैठक की अध्यक्षता की थी जिसमें वर्ष 2021-22 के अंतर्गत 16 परियोजनाओं पर चर्चा की गई. 

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि बरसाना और नंदगांव में हो रहे पर्यटक जन सुविधा केंद्र के  निर्माण और चौरासी कोसीय परिक्रमा मार्ग में पड़ाव स्थलों का विकास कार्य को प्रमुखता देते हुए तय समय पर किया जाए. इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने कुंडों का रख-रखाव, वृंदावन परिक्रमा मार्ग को बेहतर बनाने के लिए लेपन कार्य, गोवर्धन परिक्रमा मार्ग लेपन कार्य, यमुना जी के विश्राम घाट से स्वामी घाट कंस किला तक यमुना रिवर फ्रंट कार्य कराने का भी निर्देश दिया.  

UP चुनाव: निषाद आरक्षण को लेकर जनगणना आयुक्त से मिले संजय निषाद

इसके साथ ही बैठक में मथुरा स्थित वृंदावन में जयपुर मंदिर के सामने परिषद द्वारा निर्मित अन्नपूर्णा भवन के संचालन, स्वामी घाट से दुर्वासा ऋषि मंदिर तक सस्पेंशन ब्रिज का चल रहे निर्माण कार्य, विश्राम घाट पर हर की पैड़ी की तरह कृष्णा पैड़ी का विकास और द्वारिकाधीश मंदिर के पीछे बजरिया वाली सड़क एवं पाठक गली की सीढ़ियों का पुनरोद्धार कार्य पर भी चर्चा की. 

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि तीर्थ स्थलों को स्वच्छ, सुंदर व आकर्षक ढंग से विकसित करने के लिए सभी विभाग और अंतर्विभागीय को मिलकर काम करना होगा. साथ ही तीर्थ स्थलों पर चल रहे निर्माण कार्य को तय समय-सीमा में पूरा किया जाए. बैठक में दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल के साथ अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें