कोरोना के चलते नवजात बच्चों का टीकाकरण प्रभावित, फरवरी में चलाया जाएगा विशेष अभियान : CM योगी

Uttam Kumar, Last updated: Thu, 20th Jan 2022, 10:08 AM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को टीम 9 के साथ बैठक में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रसार और टीकाकरण को लेकर समीक्षा की. मुख्यमंत्री ने नवजात को लगने वाले टीका के लिए राज्य भर में फरवरी में विशेष अभियान चलाकर सभी को टीका लगाने का निर्देश दिया.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फाइल फोटो)

लखनऊ: सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को फरवरी महीने में विशेष अभियान चलाकर सभी नवजात को टीका लगाने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना माहामारी के कर्णन नवजात को लगने वाले नियमित टीके पर प्रभाव पड़ा है. प्रदेश के ऐसे सभी नवजात को चिह्नित करते हुए फरवरी में विशेष अभियान चला कर उनका टीकाकरण पूरा किया जाए. बचपन में लगने वाले यह टीके जीवन भर अनेक बीमारियों से हमें सुरक्षित रखते हैं. 

दरअसल बुधवार को मुख्यमंत्री ने टीम-9 के साथ बैठक की थी. इस बैठक में मुख्यमंत्री ने कोरोना महामारी के बढ़ते प्रसार के रोकथाम और टीकाकरण समेत अन्य कार्यों की समीक्षा की और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रसार के रोकथाम के लिए अधिकारियों से कहा कि कोरोना नियंत्रण में ट्रेसिंग का महत्वपूर्ण योगदान है. जिस तरीके से पहली और दूसरी लहर के दौरान संक्रमितों के संपर्क में आने वाले को ट्रेस कर इसके प्रसार पर काबू पाया गया था. इस बार भी ऐसे ही प्रयास की जरूरत है.  

अपर्णा को शुभकामनाएं, आजमगढ़ की जनता से पूछकर लड़ूंगा चुनाव : अखिलेश यादव

मुख्यमंत्री ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए प्रदेश भर में सर्विलांस कार्यक्रम चलाने का निर्देश दिया है.उन्होंने अधिकारियों से कहा कि निगरानी समितियां, स्वास्थ्य कर्मी लोगों के घर-घर जाकर लक्षणयुक्त लोगों की पहचान करें. जरूरत के अनुसार टेस्ट कराएं. हर संदिग्ध मरीज को मेडिकल किट उपलब्ध कराएं. एक डोज लेने वालों की सूची तैयार करें. इस विशेष अभियान को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जाए. 

टीम 9 के अधिकारियों नदवर बताया गया कि सूबे के संभल, आगरा, रामपुर, जालौन आदि जिलों में टीकाकरण की रफ्तार धीमी है. मुख्यमंत्री ने इन सभी जिलों में टीकाकरण में तेजी लाने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि इसके लिए स्कूल व कॉलेजों में विशेष कैंप लगाए जाएं. साथ ही मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि अस्पताल में उपचाराधीन कोविड पॉजिटिव लोगों के परिजनों से नियमित अंतराल पर बात किया जाए. होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे लोगों से संवाद कर उन्हें मेडिकल परामर्श, दवाएं आदि मुहैया कराई जाए. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें