UP में BJP सरकार के 4 साल: योगी बोले- 2014 के बाद किसान बना राजनीति का हिस्सा

Smart News Team, Last updated: 19/03/2021 01:36 PM IST
  • यूपी में भाजपा सरकार ने अपने चार साल पूरे कर लिए है. इस मौके पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 2014 के बाद किसान राजनीति का हिस्सा बना है. सीएम ने कहा कि राज्य सरकार ने गन्ना किसानों के लिए बड़े स्तर पर कार्य किया है.
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि किसान 2014 के बाद राजनीति का हिस्सा बना है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी में अपने कार्यकाल के चार साल पूरे कर लिए है. इस मौके पर सीएम योगी ने कहा, कि 2014 के बाद किसान भी राजनीति का हिस्सा बन गया है. पहले किसानों की समस्या पर ध्यान नहीं दिया जाता था. लेकिन राज्य में केंद्र सरकार की किसान सम्मान योजना जैसी सभी योजनाओं ने किसानों की स्थिति को बेहतर प्रदर्शन किया है.

सीएम योगी ने कहा, राज्य सरकार ने गन्ना किसानों के लिए बड़े स्तर पर कार्य किया है. पहले गन्ना के लिए किसानों को इधर-उधर भटकना पड़ता था. लेकिन राज्य में बीजेपी की सरकार आने के बाद किसानों को गन्ने के अच्छे दाम मिले है. सरकार ने किसानों की बेहतरी के लिए अनेकों योजनाएं लाई है.

अवैध शराब कारोबारियों को लेकर सीएम का निर्देश, आरोपियों पर लगेगा गैंगस्टर एक्ट

चार साल पूरे होने पर विकास पुस्तिका का विमोचन

सीएम ने राज्य में चार साल पूरे होने पर विकास पुस्तिका का विमोचन भी किया है. इस मौके पर मुख्यमंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा और कैशव प्रसाद मौर्य सहित भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद रहे.

लखनऊ: भोजपुरी एक्टर खेसारी लाल यादव पर FIR, फिल्म निर्माता के बेटे को धमकाने का आरोप

सीएम ने कहा कि यूपी में पहले कोई भी त्यौहार बिना शान्ति से पूरा नहीं होता था. लेकिन राज्य में भाजपा की सरकार आने के बाद राज्य में पिछले चार सालों में कोई भी दंगा नहीं हुआ है. पहले प्रदेश में कोई आना नही चाहता था, लेकिन अब यूपी सबकी पहली पसंद है. पुलिस को भी प्रदेश में बड़े स्तर पर रिफार्म किया गया है.

यूपी में योगी सरकार के चार साल पूरे, सीएम ने कहा- पूरे कार्यकाल में राज्य में कोई दंगा नहीं हुआ

पेट्रोल डीजल 19 मार्च का रेट: लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, आगरा, मेरठ, प्रयागराज, गोरखपुर में नहीं बढ़े तेल के दाम

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें