योगी सरकार अवैध कॉलोनी बनाने वाले बिल्डरों पर कसेगी शिकंजा, कार्रवाई के निर्देश

Smart News Team, Last updated: Tue, 9th Mar 2021, 9:28 PM IST
  • यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार अवैध कॉलोनी बनाने वाले बिल्डरों के ऊपर कार्रवाई के निर्देश दिए है. साथ ही प्रदेश के सभी जिलों के विकास प्राधिकरणों को ऐसे बिल्डरों को नोटिस देने के बाद आनाकानी करने पर कार्रवाई करें.
योगी सरकार अवैध कॉलोनी बनाने वाले बिल्डरों पर कसेगी शिकंजा, दिया कार्रवाई के निर्देश

लखनऊ. यूपी की योगी सरकार जल्द ही बिल्डरों सके ऊपर शिकंजा कसने जा रही है. खासकर उन बिल्डरों के ऊपर जो कॉलोनी बनाने के बाद उसे वैध नहीं करवाते है. इतना ही नहीं विकास प्राधिकरणों ने तो इस दिशा में कार्रवाई करनी शुरू भी कर दी है. जिसके तहत पहले उन्हें अवैध कॉलोनी को वैध करने के लिए नोटिस दिया जाएगा. अगर वह ऐसा नहीं करते है तो उन्हें उसके बाद उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इस दिशा में प्रदेश भर के 2675 कॉलोनियों को नोटिस भी भेजा जा चुका है. 

प्रदेश सरकार जिलों में बनी अवैध कॉलोनियों को वैध कराने के लिए प्रदेश भर के विकास प्राधिकरण को दिशा निर्देश दे चुकी है. जिसके तहत कॉलोनियों को वैध कराने के लिए कार्यवाही की जानी है. साथ ही यह भी निर्देश दिया गया है कि जो भी बिल्डर अवैध कॉलोनियों को वैध कराने में आनाकानी करता है तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए.

होली पर जमकर छलकेंगे जाम, यूपी में चार गुना ज्यादा बिक सकती है शराब

इसके बावजूद भी कई बिल्डर ऐसा करने के लिए आनाकानी कर रहे है. आपको बता दे कि अवैध कॉलोनियों में बिल्डर जरूरी सुविधाएं नहीं देते है. जिसमे अच्छी सड़क, नाली, पार्क और सीवर जैसी मूलभूत सुविधाएं नहीं देते है. जिसके चलते वहां रहने वालों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

सरकार की तरफ से जारी निर्देश के बाद से कई बिल्ड अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए सामने आ चुके है. वही ऐसे कई है जो अभी इसके लिए आनाकानी कर रहे है. वही जानकारी के अनुसार लखनऊ 195, मेरठ 308, आगरा 224, अलीगढ़ 167, बरेली 187, मथुरा 220, कानपुर 197 में सैकड़ों अवैध कॉलोनियों है. जिन्हें अभी तक वैध नहीं किया गया है. सीएक साथ ही प्रदेश के अन्य जिलों में भी कई अवैध कॉलोनियां है.

यूपी में ठेके पर लगाए गए सफाई कर्मचारियों के मानदेय में इज़ाफा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें