UPTET 2021: यूपीटीईटी पेपर लीक करने वालों पर गैंगस्टर लगाएगी योगी सरकार

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 28th Nov 2021, 3:29 PM IST
  • यूपीटीईटी के पेपर को लीक करने वालों पर यूपी की योगी सरकार गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उनकी संपत्ति भी जब्त कराएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 01 माह के अंदर पारदर्शी तरीके से फिर से परीक्षा आयोजित होगी.
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, फोटो क्रेडिट (योगी आदित्यनाथ ट्विटर)

लखनऊ. यूपीटीईटी की परीक्षा पेपर लीक होने के कारण रद्द कर दी गई है. वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यूपीटीईटी का पेपर लीक करने वाले गिरोह को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए जा चुके हैं. दोषियों को चिह्नित कर त्वरित कार्रवाई की जा रही है. दोषियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उनकी संपत्ति भी जब्त की जाएगी. इसके साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे नौजवान बहनों-भाइयों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा. आप सबको हुई असुविधा के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा जरूर मिलेगी. आपकी सरकार शुचितापूर्वक एवं पारदर्शी तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए कृतसंकल्पित है.

यूपीटीईटी के अभ्यर्थियों के साथ प्रदेश सरकार खड़ी है और 01 माह के अंदर पारदर्शी तरीके से पुनः परीक्षा आयोजित होगी. किसी भी अभ्यर्थी से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा. वहीं परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को आने-जाने हेतु उत्तर प्रदेश रोडवेज की बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा दी जाएगी.

UPTET Paper: योगी सरकार पर हमलावर अखिलेश, बोले- UP में चरम पर शैक्षिक भ्रष्टाचार

इस पूरे मामले को लेकर उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी ने कहा है कि यूपीटीईटी परीक्षा के पेपर लीक होने की सूचना मिली है। इसलिए दोनों पालियों की परीक्षा तत्काल प्रभाव से निरस्त की जा रही है. एक महीने के भीतर परीक्षार्थियों से बिना कोई शुल्क लिए पुन: परीक्षा कराई जाएगी. यूपी STF को जांच सौंपी गई है. वहीं लॉ एंड ऑर्डर के एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा है कि पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने दर्जनों संदिग्धों को हिरासत में लिया है और जांच जारी है. पेपर लीक मामले में यूपी पुलिस अब तक 23 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. इनमें से 13 को प्रयागराज से और चार को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था और बाकी बिहार के रहने वाले हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें