योगी सरकार का आदेश, नदियों में शव बहाने से रोकने के लिए बनाएं टीम, इन्हें दी जाए जिम्मेदारी

Smart News Team, Last updated: Sun, 16th May 2021, 11:41 AM IST
  • उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने नदियों में शव को प्रवाहित करने से रोकने के लिए टीम बनाने का आदेश दिया. जिसके तहत सभी नगर निगम, पालिका परिषद व नगर पंचायतों में समिति का गठन किया जाएगा.
योगी सरकार ने नदियों में शव प्रवाह को रोकने के लिए टीम बनाने का आदेश दिया

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने नदियों में शव को प्रवाहित करने से रोकने के लिए शहरी क्षेत्रों में समिति बनाने के लिए कहा है. वही इस समिति की अध्यक्षता नगर निगम में मेयर और पालिका परिषद व नगर पंचायतों में चेयरमैन करेंगे. वही योगी सरकार ने इस समिति को दो दिन के अंदर बनाने का निर्देश दिया है. योगी सरकार के निर्देश के अनुसार इस समिति में 10-10 पार्षद रखें जाएंगे. वही इस निर्देश को नगर विकास अपर मुख्य सचिव डॉ रजनीश दुबे ने जारी किया है. 

निर्देश के अनुसार मरने वालों का अंतिम संस्कार परम्पराओं की अनुसार ही किया जाए, जैसे जलाना या दफनाना. किसी भी स्थिति में शवों को नदियों में प्रवाहित करने से रोका जाएं. जिसे देखने के लिए सभी जिलों में समिति का गठन करने का निर्देश दिया गया है. जो यह ध्यान रखेंगे की लोग नदियों में शव को प्रवाहित या जल समाधि नहीं दे पाएं. 

CM योगी का आदेश, इस तारीख से शुरू हो स्कूल-कॉलेज और विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन क्लास

वही नगर निगम में बनाई जाने वाली समिति की अध्यक्षता मेयर करेंगी. जिसमे नगर आयुक्त संयोजक सचिव, उपाध्यक्ष कार्यकारिणी समिति, सिविल मुख्य अभियंता और नगर स्वास्थ्य अधिकारी समेत 10 पार्षद इस समिति के सदस्य होंगे. वही इसी तरह नगर पालिका और नगर पंचायत में चेयरमैन की अध्यक्षता में समिति बनाई जाएगी. जो यह ध्यान रखेंगे की कोरोना और अन्य बीमारियों से हुई मौतों का अंतिम संस्कार पारम्परिक तरीकों से किया जाएं. 

UP में ड्राइवर, कंडक्टर की कोरोना से मौत पर परिवार को मिलेगी 50-50 लाख की मदद

वही निकायों में बनाएं जानी वाली समिति की जानकारी सभी निकायों को सरकार को 18 मई तक उपलब्ध कराना होगा. साथ ही 18 मई की शाम तक ही स्थानीय निकाय निदेशालय के ईमेल पर शासन को समिति गठन की जानकारी उपलब्ध करानी होगी. आपको बता दे कि यूपी की नदियों में अभी तक सैकड़ो शव प्रवाहित होते हुए पाए गए है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें