योगी सरकार का फैसला, यूपी के छात्रों को मिलेगी फ्री विदेशी शिक्षा, रोजगार के बढ़ेंगे अवसर

Swati Gautam, Last updated: Mon, 13th Sep 2021, 1:04 PM IST
  • उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने रविवार को यूपी के छात्रों को फ्री विदेशी शिक्षा देने की घोषणा की. नलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म के कोरसेरा के जरिए छात्रों को ये विदेशी शिक्षा पढ़ाई जाएगी. कोरसेरा में लगभग 50,000 से अधिक युवा और 200 से अधिक यूनिवर्सिटी के माध्यम से युवाओं को मुफ्त विदेशी शिक्षा की सुविधा प्रदान की जायेगी.
योगी सरकार का फैसला, यूपी के छात्रों को मिलेगी फ्री विदेशी शिक्षा, रोजगार के बढ़ेंगे अवसर (फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार यूपी के छात्रों की शिक्षा के लिए कई अहम फैसले लेती रहती है ऐसा ही एक फैसला योगी सरकार ने रविवार को सुनाया जिसमें कहा गया कि यूपी की सरकार विदेशी विश्वविद्यालयों के माध्यम से युवाओं को उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा और रोजगार देने का प्रयास कर रही है और यह शिक्षा युवाओं को एकदम मुफ्त दी जा जायेगी. इससे यूपी के छात्रों का न केवल स्किल डेवलपमेंट होगा बल्कि पर्सनेलिटी डेवलपमेंट भी होगा.

इतना ही नहीं योगी सरकार ने बताया कि ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म के कोरसेरा के जरिए छात्रों को ये विदेशी शिक्षा पढ़ाई जाएगी. कोरसेरा में 200 से अधिक यूनिवर्सिटी के माध्यम से युवाओं को मुफ्त विदेशी शिक्षा की सुविधा प्रदान की जायेगी. इतना ही नहीं इन कोर्स को पूरा करने के बाद क्षेत्रों को सर्टिफिकेट भी दिए जायेंगे. इस सर्टिफिकेट की दुनिया भर में पहचान होगी. इन कोर्स के माध्यम से लगभग 50,000 से अधिक युवाओं को मुफ्त शिक्षा की सुविधा प्रदान की जा रही है.

यूपी में खुले प्री प्राइमरी स्कूल, स्कूलों को सजाया, बनाया सेल्फी प्वाइंट

विदेशी शिक्षा पढ़ने से राज्य के युवाओं को विदेश में रोजगार पाने में मदद मिलेगी. अंग्रेजी के अलावा छात्र विदेशी भाषाएं भी सीखेंगे तो इससे उन्हें भविष्य में काफी मदद मिलेगी. इससे छात्रों को देश-विदेश में नौकरी मिलने में आसानी होगी. यह युवाओं को अंतरराष्ट्रीय मानकों पर प्रशिक्षण प्राप्त करके रोजगार में भी सक्षम बनाएगा. कौशल विकास विभाग के अनुसार, कौरसेरा के माध्यम से युवा दुनिया भर के 200 से अधिक विश्वविद्यालयों और संस्थानों के माध्यम से प्रतिष्ठित कंपनियों द्वारा चलाए जा रहे 3,800 से अधिक पाठ्यक्रमों में से चयन कर सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें