जाम लगने से नाराज हुई यूपी सरकार, अब सड़क किनारे इवेंट का आयोजन होगा बंद

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Feb 2021, 5:03 PM IST
  • लखनऊ के 1090 चौराहे पर लोगों को जागरूक करने के लिए बुधवार को स्वच्छता अभियान कार्यक्रम किया गया. कार्यक्रम के बाद सड़क पर भारी जाम लग गया. जिससे सरकार ने निर्देश दिया कि भविष्य में सड़क किनारे ऐसा कोई कार्यक्रम न हो.
लखनऊ के 1090 चौराहे पर स्वच्छता अभियान कार्यक्रम से भारी जाम लग गया.

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ के 1090 पर चौराहे पर नगर निगम ने स्वच्छता अभियान कार्यक्रम किया था. कार्यक्रम के खत्म होने के बाद भीषण जाम लग गया. जिससे लोगों को आने-जाने में परेशानी हुई. जिस पर शासन ने नाराजगी जताई. शासन की ओर से अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को निर्देश दिया गया कि अब सड़क किनारे ऐसा कोई कार्यक्रम न हो. जिससे भविष्य में जाम न लगे.

मिली जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए बुधवार को 1090 चौराहे पर स्वच्छता कार्यक्रम अयोजित किया गया था. इस कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए. कैबिनेट मंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वच्छता महारैली को हरी झंडी दी.

UP बोर्ड 2021 एग्जाम डेट शीट जारी, 24 अप्रैल से होगी हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा

स्वच्छता अभियान कार्यक्रम के तहत 1090 चैराहे से झंडेवाला पार्क तक स्वच्छता महारैली निकाली गई.

1090 चौराहे से निकाली गई स्वच्छता महारैली झंडेवाला पाक तक हुई है. मंत्री सुरेश खन्ना के अलावा कई विधायक, महापौर संयुक्ता भाटिया और आशुतोष टंडन भी मौजूद रहे. इस कार्यक्रम से लखनऊ नगर निगम ने लखनऊवासियों से राजधानी को स्वच्छ बनाने की अपील की है. आपको बता दें कि स्वच्छता रैंकिंग 2020 में लखनऊ 12वें स्थान पर आया था.

सुनीता ने राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जीता स्वर्ण, मां ने कहा भूखे रहकर बेटी को पाला

स्वच्छता महारैली में मौजूद सभी लोगों को लखनऊ को स्वच्छ रखने की शपथ दिलवाई गई और घर के आसपास पेड़ लगाने की अपील की गई है. इस कार्यक्रम के खत्म होने के बाद लखनऊवासियों को भारी जाम से जूझना पडा. शासन ने इस कार्यक्रम पर नाराजगी जताते हुए अपर मुख्य सचिव अविनाश अवस्थी को निर्देश दिया कि अब ये सड़क किनारे ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं होना चाहिए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें