CM योगी करेंगे मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ, अनाथ बच्चों को मिलेगा लाभ

Smart News Team, Last updated: Thu, 22nd Jul 2021, 9:06 AM IST
  • उत्तर प्रदेश में शुरू होने जा रही है मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना
  • यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ 12 बजे करेंगे योजना का शुभारंभ
  • आयोजित कार्यक्रम में यूपी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी होंगी शामिल
  • योजना के तहत कोरोना महामारी में अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक सहयोग प्रदान किया जाएगा
CM योगी करेंगे मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ, अनाथ बच्चों को मिलेगा लाभ

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आज मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की शुरुआत के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया है जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ आज दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री बाल विकास योजना शुभारंभ करेंगे. कार्यक्रम के दौरान राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहेंगी. बता दें कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत यूपी में कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों को उनके भरण - पोषण , शिक्षा , चिकित्सा आदि की व्यवस्था हेतु आर्थिक सहयोग प्रदान करने के उद्देश्य से यह योजना शुरू की जा रही है. जिसमें सभी अनाथ बच्चों को लाभ मिलने वाला है.

बता दें कि 18 साल की उम्र तक के ऐसे बच्चे जिनके माता व पिता दोनों की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है उन्हें इस योजना के तहत हर महीने 4 हजार रूपये दिए जायेंगे. साथ ही पूर्णतया अनाथ हुए बच्चों को बाल कल्याण समिति के आदेश से विभाग के अन्तर्गत संचालित बाल्य देखभाल संस्थाओं में आवासित कराया जाएगा. इतना ही नहीं 11 से 18 वर्ष तक की आयु के बच्चों की 12वीं तक की शिक्षा निःशुल्क होगी और उन बच्चों का अटल आवासीय विद्यालयों तथा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में एडमिशन भी कराया जाएगा.

गांव से लेकर सड़क और अस्पतालों पर UP कैबिनेट बैठक में हुए अहम फैसले, पढ़ें

कोरोना में अनाथ हुई लड़कियों को भी योगी सरकार मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत लाभ देगी जिसमें लड़कियों को शादी के लिए एक लाख एक हजार की राशि उपलब्ध कराई जाएगी. अनाथ काम करने वाले बच्चों और कक्षा 9 के ऊपर के छात्रों को सरकार टेबलेट/लैपटॉप को सुविधा भी उपलब्ध कराएगी साथ ही भारत सरकार द्वारा भी कोविड से प्रभावित बच्चों के सहयोग एवं सशक्तीकरण के लिए PMCARES for Children योजना की घोषणा की है उक्त योजना के दिशा - निर्देश प्राप्त होने पर इस योजना का लाभ भी बच्चों को दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें