यूपी चुनाव: CM योगी दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह से मिले

Smart News Team, Last updated: Fri, 20th Aug 2021, 9:48 AM IST
  • लखनऊ में चल रहे अनुपूरक बजट के स्थागित होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल दिल्ली रवाना हो गए. दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह के साथ प्रदेश के इन शीर्ष के नेताओं की बैठक हुई. जिसमें कैबिनेट विस्तार, एमएलसी के नामों समेत विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों को लेकर मंथन हुआ. दिल्ली से लखनऊ लौटने के बाद अब विधान परिषद सदस्य के नाम के साथ जल्द कैबिनेट विस्तार की घोषणा हो सकती है.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल ने दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की.

लखनऊ. यूपी में विधानसभा चुनाव 2022 में अब सिर्फ 6 महीने से भी कम का वक्त बचा है. अब भाजपा समेत अन्य पार्टियां पूरी तरह से चुनावी मोड में आकर चुनावी तैयारियों में जुट गई है. जिसको लेकर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के साथ बैठक और चुनावी मंथन करने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश भाजपा संगठन मंत्री सुनील बंसल दिल्ली पहुंचे. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर आयोजित इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहे. बैठक में आगामी चुनाव के रोडमैप से लेकर कैबिनेट विस्तार और एमएलसी के नामों पर चर्चा की गई. इस बैठक के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि लखनऊ पहुंचे के बाद सीएम योगी कभी भी कैबिनेट विस्तार कर सकते हैं. साथ ही संगठन की ओर से एमएलसी के नामों पर घोषणा हो सकती है.

विधानसभा सत्र स्थागित होने के तुरंत बाद सीएम दिल्ली रवाना

सीएम योगी विधानसभा सत्र स्थागित होने के तुरंत बाद दिल्ली रवाना हो गए. जिसके चलते यह संभावनाएं जोर पकड़ रही है कि मानसून सत्र के चलते मंत्रिमंडल विस्तार और एमएलसी मनोनयन की प्रक्रिया रुकी थी. वहीं, इस बैठक में चुनाव को लेकर भी चर्चा हुई. इससे पहले सीएम खुद अनुपूरक बजट के चर्चा में चुनाव को लेकर स्थिति साफ कर दी. जहां विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रदेश के युवाओं को साधने का प्रयास किया, वहीं, डीए बढ़ाकर सरकारी कर्मचारी को भी साथ लाने का प्रयास किया.

सीएम योगी का तोहफा! इन युवाओं को UP सरकार बांटेगी स्मार्टफोन और टैबलेट

एमएलसी के लिए इन नामों पर हुई चर्चा

प्रदेश में अभी 4 विधान परिषद की सीटें ली है. इन सीटों पर अभी नामों की संगठन की ओर से घोषणा नहीं हुई, लेकिन करीब 8 से 10 दावेदार दौड़ में शामिल हैं. अब इस बैठक के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि अगस्त खत्म होने से पहले नामों की घोषणा हो सकती है. इन नामों में प्रबल दावेदारों में कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए ब्राह्मण नेता जितिन प्रसाद, सहयोगी पार्टी निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद और भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई है. जानकारी के अनुसार, बैठक में इन नामों पर चर्चा हुई है और इस पर भी चर्चा हुई कि इन्हें सिर्फ विधान परिषद सदस्य बनाया जाएगा या कैबिनेट में भी शामिल किया जाएगा.

कैबिनेट विस्तार में जातिगत साधने का प्रयास

जल्द प्रदेश में होने वाले कैबिनेट विस्तार में भाजपा जातिगत समीकरण साधने का प्रयास कर रही है. पार्टी का प्रयास है कि जाति के साथ क्षेत्रीय समीकरण का भी संतुलन बनाया जा सके ताकि आगामी चुनाव में इसका फायदा मिल सके. साथ ही पार्टी ने सरकार में महिला भागीदारी को लेकर भी फैसला लेने पर विचार चल रहा है कि दलित और ओबीसी वर्ग की महिला को भी सरकार में शामिल करके इस वर्ग को आगामी चुनाव से पहले पार्टी में जोड़ लिया जाए. अब दिल्ली से लौटने के बाद कभी भी एमएलसी के नामों की घोषणा हो सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें