यूपी में हर जिले के स्वास्थ्य केंद्रों की हालत सुधारें अफसर: सीएम योगी आदित्यनाथ

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 5:24 PM IST
  • मुख्यमंत्री योगी ने मंगलवार को हुई समीक्षा बैठक के दौरान राज्य के स्वास्थ्य केंद्रों की व्यवस्था और सुविधाओं की स्थिति को लेकर बातचीत की. सीएम ने अफसरों को एक हफ्ते का समय देते हुए सभी स्वास्थ्य केंद्रों की स्थिति में सुधार करने के लिए कहा है.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फाइल फोटो)

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी ने मंगलवार को समीक्षा बैठक का आयोजन किया. इस बैठक में उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य केंद्रों की व्यवस्था और सुविधाओं की स्थिति को लेकर बातचीत की. सीएम योगी ने बैठक में कहा कि प्रत्येक जनपद में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की व्यवस्था को टीम लगाकर चुस्त-दुरुस्त बनाया जाए. इसके अन्तर्गत स्वास्थ्य केन्द्रों पर मेडिकल उपकरणों को कार्यशील स्थिति में रखा जाए तथा साफ-सफाई की व्यवस्था को प्रभावी बनाया जाए. स्वास्थ्य केन्द्रों की पेंटिंग भी करायी जाए. साथ ही, आवश्यक मैनपॉवर, पेयजल, शौचालय, बिजली आदि की व्यवस्था को भी दुरुस्त रखा जाए. यह कार्य आगामी एक सप्ताह में पूर्ण कर लिया जाए.

मंगलवार को हुई समीक्षा बैठक के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के सीएचसी व पीएचसी में मैन पावर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग और सम्बन्धित जिलाधिकारी स्तर से कार्यवाही होनी है, जबकि मेडिकल कॉलेजों में प्राचार्य इसकी कार्यवाही करते हैं. शासन से सहयोग की जरूरत हो तो बताएं, अन्यथा चयन प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ाई जाए.

लखनऊ : कोरोना कर्फ्यू में चल रहा था हुक्का बार, छापेमारी में 7 आरोपी अरेस्ट

सीएम योगी ने समीक्षा बैठक के दौरान हुई बातचीत में कहा कि सभी जनपदों में उपलब्ध सभी वेंटिलेटर्स व आक्सीजन कन्सेन्ट्रेटर क्रियाशील अवस्था में रहने चाहिए. वेंटिलेटर्स के संचालन के लिए एनेस्थेटिक्स व टेक्नीशियन भी उपलब्ध रहने चाहिए. सभी कोविड और नॉन कोविड मरीजों के सुव्यवस्थित इलाज के लिए मांग के अनुसार ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है. बीते 24 घंटे में 935 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का वितरण किया गया. इसमें 560 एमटी केवल रीफिलर के माध्यम से वितरित हुआ.

UP के किसान व्हॉट्सएप के जरिए ले सकते हैं मदद, खेती में हुई परेशानी का मिलेगा हल

उन्होंने आगे कहा कि ऑक्सिजन ऑडिट के अच्छे परिणाम मिले हैं, बीते कुछ दिनों में ऑक्सीजन की मांग में 10 से 15 फीसदी की कमी आई है. अधिकांश मेडिकल कॉलेजों में 2-3 दिवसों का बैकअप हो गया है. कतिपय मेडिकल कॉलेजों में खाली सिलिंडर की जरूरत है, इसकी पूर्ति तत्काल कराई जाए. 5,000 सिलिंडर क्रय करने की प्रक्रिया जारी है, इसके अलावा विभिन्न औद्योगिक संगठनों द्वारा सीएसआर के माध्यम से लगभग 3500 सिलिंडर और प्राप्त हो रहे हैं. इनका समुचित वितरण/आवंटन कराया जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें