कोरोना रोकथाम और त्योहारों के शांति से आयोजन को लेकर CM योगी ने दिए ये निर्देश

Smart News Team, Last updated: Thu, 25th Mar 2021, 11:47 PM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को त्यौहारों के शांति तरीके से आयोजन और कोविड-19 की रोकथाम के संबंध में समीक्षा बैठक की. सीएम ने मीटिंग में कोरोना को लेकर अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने त्यौहारों के आयोजन और कोविड-19 की रोकथाम पर समीक्षा बैठक की.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि त्यौहारों पर कोई रोक नहीं है लेकिन कोविड को देखते हुए लोगों को जागरूक किया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को त्यौहारों के शांति तरीके से आयोजन और कोविड-19 की रोकथाम के संबंध में समीक्षा बैठक की. कई राज्यों में कोरोना की स्थिति बिगड़ी रही है. ऐसे में सतर्क रहन होगा, थोड़ी-सी लापरवाही बहुत भारी पड़ सकती है.

समीक्षा मीटिंग में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि होली, शब-ए-बरात और पंचायत चुनावों को देखते विशेष सतर्कता की जरूरत है. पुलिस बस अलर्ट रहे और उपद्रवी तत्वों के साथ सख्ती की जाएगी. सीएम ने कहा वैक्सीन का वेस्टेज हर हाल में रोका जाएगा. टीकाकरण के लिए लोगों को प्रोत्साहित और प्रेरित करने की आवश्यकता है. इस काम में जन प्रतिनिधियों का सहयोग अपेक्षित है.

योगी सरकार का बड़ा फैसला, वाराणसी और कानपुर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पर्व और त्यौहारों पर कोई रोक नहीं है लेकिन कोविड संक्रमण को देखते हुए लोगों को जागरूक किया जाए. बिना स्थानीय प्रशासन की अनुमति के कोई भी जुलूस और सार्वजजिक समारोह आयोजित न किए जाएं. उन्होंने कहा कि इन आयोजनों में 10 साल की उम्र से कम के बच्चों, 60 साल से ज्यादा के बुजुर्ग और गंभीर बीमारी वाले लोगों को शामिल होने से बचाया जाए.

लखनऊ केजीएमयू में सामान्य ऑपरेशन पर रोक, लिए जाएंगे सिर्फ इमरजेंसी केस

समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का कोविड टीकाकरण शुरू हो रहा है. ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण जल्द हो सके, इसके लिए वैक्सीनेशन का कार्य अब हेल्थ और वेलनेस सेंटर पर भी किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इंटीग्रेटेड कमांड और कंट्रोल सेंटर में हर रोज डीएम, पुलिस कप्तान और सीएमओ नियत समय पर बैठक करें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें