मुस्लिम बच्चों को मौलाना, मौलवी, मुंशी नहीं अब्दुल कलाम बनाने की जरूरत: योगी

Smart News Team, Last updated: Fri, 1st Oct 2021, 12:30 AM IST
  • यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में एक न्यूज चैनल को इंटरव्यू देते हुए कहा कि मुस्लिम बच्चों को मौलाना या मुंशी तक ही नहीं सीमित रखना चाहिए. उन्हें पूर्व राष्ट्रपति, महान वैज्ञानिक एपीजे अब्दुल कलाम बनाने की ओर भी आगे बढ़ाना चाहिए.
फोटो- सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ में एक न्यूज चैनल के इंटरव्यू में कहा कि मदरसों में पढ़ रहे बच्चों को सिर्फ मौलाना, मुंशी तक ही सीमित नहीं रखना चाहिए. उन्हें एपीजे अब्दुल कलाम बनाने की ओर भी आगे बढ़ाइए. सीएम योगी ने कहा कि मदरसों का आधुनिकीकरण करना बेहद जरूरी है. वहीं सीएम योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने अभी तक बिना किसी मत, मजहब, भाषा को ध्यान में रखते हुए हर तबके के विकास के लिए काम किया है.

न्यूज चैनल के इंटरव्यू में सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने मदरसों को आधुनिकीकरण से जोड़ा है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मदरसों में परंपरात इस्लामिक शिक्षा भी दीजिए लेकिन उसके साथ टेक्नॉलोजी के साथ भी जोड़े रखिए. मदरसों में पढ़ रहे बच्चों को सिर्फ मौलाना और मुंशी तक ही मत सीमित रखिए. उनको एपीजे अब्दुल कलाम बनाने की ओर भी अग्रसर कराइए.

लखनऊ के स्कूल में बच्चों ने देखा अजगर, वन विभाग नहीं पकड़ पाया, पूरे इलाके में दहशत

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मदरसा आधुनिकीकरण होना काफी जरूरी है क्योंकि जब ऐसा होगा तो उसकी प्रतिभा और उसकी उर्जा का लाभ देश भी लेगा और गरीबी और बदहाली से उस तबके को उभारने में भी मदद मिलेगी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि अगर कोई जाति, मत या मजहब बदहाल होगा तो इसका मतलब ये नहीं हम खुशहाल हो जाएंगे, उसका असर पूरे समुदाय और देश पर पड़ेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें