यूपी में DRDO की मदद से लगेगा 220 सिलेंडर क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट: CM योगी

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Apr 2021, 10:51 PM IST
  • यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार केा अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की है. इस मीटिंग में सीएम ने कहा कि डीआरडीओ की मदद से दो-तीन दिन में 220 सिलेंडर की क्षमता वाला नया आक्सीजन प्लांट एक्टिव हो जाएगा.
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने ऑक्सीजन प्लांट के बारे में अधिकारियों के सथ वर्चुअल मीटिंग की.

लखनऊ. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डीआरडीओ की सहायता से दो-तीन दिन में 220 सिलेंडर की क्षमता का नया ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर क्रियाशील कर दिया जाएगा. सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अधिकारियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की है. सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि केन्द्र सरकार से 750 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आवंटित हुआ है. इसे जरूरत के अनुसार भेजा जाए.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की सुगम उपलब्धता सुनिश्चित करने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर हर सप्ताह तीन-तीन नए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि नए प्लांट्स के एक्टिव होने के बाद प्रदेश में आक्सीजन की उपलब्धता और बेहतर हो जाएगी.

केंद्र का बड़ा फैसला, अब 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोग भी लगवा सकेंगे कोरोना वैक्सीन

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मीटिंग में अधिकारियों से कहा कि ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाली सभी औद्योगिक इकाइयों को चिन्ह्ति कर उनसे संपर्क किया जाए. इनमें एमएसएमई इकाईयों की संख्या बहुतायत है. विशेष परिस्थति को छोड़कर फिलहाल सभी औद्योगिक इकाइयों से उत्पादित ऑक्सीजन का इस्तेमाल मेडिकल से संबंधी कामों में किया जाए. उन्होंने कहा कि रेमिडीसीवर जैसी जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी रोकने के लिए रासुका लगाएं.

यूपी में अब बिना मास्क नहीं मिलेगी शराब, बीयर और भांग, आबकारी विभाग के आदेश जारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी अस्पतालों और ऑक्सीजन प्लांट्स को सातों दिन 24 घंटे बिजनली आपूर्ति सुनिश्चित की जाए. खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन द्वारा मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई के संबंध में स्थापित कंट्रोल रूम 24 घंटे सक्रिय रहें. सीएम ने कहा कि अभी की स्थिति में कम से कम 100 बेड वाले सभी अस्पतालों में स्वयं का ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की दिशा में कार्यवाही की जाए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें