CM योगी का आदेश- प्रवासी मजदूरों के लिए उनके जिलों में बनाए जाएं क्वारंटीन सेंटर

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 10:41 PM IST
  • यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रवासी मजूदरों के लिए अपने जिलों में क्वारंटीन सेंटर बनाने के आदेश दिए हैं. इसमें खााना की व्यवस्था की जाएगी. सीएम ने मंगलवार को वर्चुअली मीटिंग में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की है. इस मीटिंग में सीएम ने कोरोना को लेकर निर्देश दिए हैं.
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 को लेकर वर्चुअली मीटिंग की.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को वर्चुअली मीटिंग में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की. इस बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने दूसरे प्रदेशों से आने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए उनके जिलों में क्वारंटीन सेंटर बनाने के निर्देश दिए हैं. इन क्वारंटीन सेंटरों में खाने-पीने की भी व्यवस्था की जाएगी. 

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ट्रेस्ट, ट्रेस और ट्रीट के आधार पर कोविड-19 के नियंत्रण के प्रयास हों. सभी जिलों में कोविड बेड और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चितता की जाए. आरटीपीसीआर जांच रोजना डेढ़ लाख तक की जाए. उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में जांच की भूमिका महत्वपूर्ण है. केजीएमयू और आरएमएलआईएमएस की जांच क्षमता दोगुनी की जाए. अधिक से अधिक प्रयोगशालाओं को जोड़ा जाए.

कोरोना वैक्सीन से नहीं टूटेगा मुसलमानों का रोजा, लगवा सकते हैं टीका: फतवा

इस मीटिंग में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सफाई, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए. क्षमता के अनुरूप ही यात्रियों को बैठाया जाए. कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम पूरी सक्रियता से किया जाए. उन्होंने कहा कि चैत्र नवरात्रि, रमजान और पंचायत चुनाव को ध्यान में रखते हुए व्यापक कार्य योजना बनाकर कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराया जाए.

UP मुख्यमंत्री ऑफिस के कुछ अधिकारी कोरोना संक्रमित, CM योगी हुए आइसोलेट

मुख्यमंत्री ने कहा कि लखनऊ में एरा, टीएसएम और इंटीग्रल मेडिकल कॉलेज में दो हजार बेड बढ़ाए जा रहे हैं. बलराम अस्पताल में 300 बेडों की व्यवस्था की गई है. लखनऊ कैंसर अस्पतालों को टेकओवर कर 300 बेड में 50 बेड आईसीयू के बनाए जाएं. उन्होंने कहरा कि हिंद और मेयो हॉस्पिटल को टेक ओवर किया जाए. प्रदेश में ऐसे हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेजों में एक-एक नोडल अधिकारी तैनात किया जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें