सीएम योगी का निर्देश- UP के छोटे जिलों में ऑक्सीजन की सप्लाई पर दें विशेष ध्यान

Smart News Team, Last updated: Fri, 30th Apr 2021, 10:04 PM IST
  • कोरोना के बढ़ते संकमण को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अधिकारियों के साथ वर्चुअली बैठक की है. मीटिंग में सीएम ने छोटे जिलों में ऑक्सीजन आपूर्ति पर खास ध्यान देने का निर्देश दिया है.
कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के साथ वर्चुअली मीटिंग की.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. इसी बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वर्चुअल मीटिंग में अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि बलिया, चंदौली, अमरोहा, बिजनौर, लखीमपुर और बहराइच जैसे छोटे जिलों में ऑक्सीजन की सप्लाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है. इन्हें संबंधित मंडलों से ऑक्सीजन की आपूर्ति कराई जाए. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति हर दिन बेहतर हो रही है.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और वाराणसी जैसे अधिक संक्रमण वाले जिलों में स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है. आगरा के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन ऑडिट की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर आपूर्ति-वितरण के संबंध में आगे की कार्यवाही की जाए. किसी भी अस्पताल में ऑक्सीजन का अनावश्यक उपयोग न हो.

योगी सरकार का आदेश, 7 मई तक यूपी और मध्य प्रदेश के बीच नहीं चलेंगी बसें

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अधिकारियों से कहा कि अब पश्चिम बंगाल के तीन क्षेत्रों और जमशेदपुर से भी सप्लाई की जा रही है. दो नई ऑक्सीजन रेल संचालित की जा रही है. उद्योग जगत से भी सहयोग मिल रहा है. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन टैंकरों की उपलब्धता से बढ़ाए जाने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं. विदेश से भी टैंकरों की आपूर्ति है.

1 मई को UP के इन 7 जिलों में होगा 18+ वालों का टीकाकरण, क्या आपका शहर है शामिल

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में 20-20 ऑक्सीजन कंसंटेटर के लिए पैसे की व्यवस्था कर दी गई है. प्रदेश में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित कराने की दिशा में ये महत्वपूर्ण प्रयास होगा. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार ने 1500 ऑक्सीजन कंसेंटेटर मुहैया कराए हैं, इन्हें जिलों में उपलब्ध करा दिया गया है. पीएम केयर्स से और ऑक्सीजन कंसेंटेटर उपलब्ध कराए जा रहे है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें